यूपी में अब लिखित परीक्षा के आधार पर चुने जाएंगे राजकीय विद्यालयों के शिक्षक

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश में अब राजकीय विद्यालयों में सहायक अध्‍यापक की नियुक्ति राज्‍य लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित लिखित परीक्षा के अंकों की मेरिट के आधार पर होगी. राज्‍य कैबिनेट ने मंगलवार को इस सिलसिले में प्रस्‍तावित संशोधन को मंजूरी दे दी. राज्‍य सरकार के प्रवक्‍ता ने बताया कि मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की अध्‍यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में उत्‍तर प्रदेश अधीनस्‍थ शिक्षा (प्रशिक्षित स्‍नातक श्रेणी) सेवा नियमावली 1983 में पांचवें संशोधन को मंजूरी दे दी गई. इसके तहत राजकीय विद्यालयों में सहायक अध्‍यापक की नियुक्ति के लिए विभिन्‍न कक्षाओं की परीक्षा में प्राप्‍त अंकों के बजाय राज्‍य लोक सेवा आयोग की लिखित परीक्षा में प्राप्‍त अंकों की मेरिट के आधार पर चयन किया जाएगा.
परीक्षा के अंकों की मेरिट के आधार पर चयन से शिक्षा के क्षेत्र में पारदर्शी व्‍यवस्‍था के तहत अधिक मेधावी, योग्‍य एवं उपयुक्‍त शिक्षकों का चयन किया जा सकेगा, जिससे शिक्षा के क्षेत्र में गुणात्‍मक सुधार एवं छात्रों के शिक्षण के लिए अधिक उपयुक्‍त शिक्षक उपलब्‍ध हो सकेंगे.

Back to top button