छत्तीसगढ़

सरकार चुनाव से पहले मुझे फंसाकर भेजना चाहती है जेल :सोनी सोरी

रायपुर :

आप आदमी पार्टी (आप) के आदिवासी प्रकोष्ठ की अध्यक्ष सोनी सोरी ने छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार को एक बार फिर आड़े हाथों लिया। रविवार को मीडिया से बातचीत के दौरान सोनी सोरी ने सरकार पर फर्जी केस के जरिए खुद की गिरफ्तारी की आशंका जताई है। उन्होंने कहा कि सरकार चुनाव से पहले मुझे फंसाकर जेल भेजना चाहती है।

सामाजिक कार्यकर्ता सुधा भारद्वाज के खिलाफ कार्रवाई को लेकर सरकार की मंशा पर सवाल उठाए हैं। सोनी सोरी ने सुधा भारद्वाज पर नक्सलियों से कनेक्शन के आरोपों को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि जब मेरी गिरफ्तारी हुई थी सबसे पहले सुधा दीदी ने मेरा केस लड़ा था। उनकी वजह से आज मैं जेल से बाहर हूं। सुधा मैम ने मेरा ही नहीं बस्तर के सरकेगुड़ा, एडसमेटा जैसे कई ऐसे केसों की लड़ाई लड़ी है।

उन्होंने कहा कि बस्तर में आदिवासियों के हितों की लड़ाई वालों पर सरकार नक्सली कनेक्शन का आरोप लगाकर उनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है, जो कि बिल्कुल भी गलत है। उन्होंने इस मसले पर प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री रमन सिंह से शांति वार्ता के लिए कहा। जिसमें इलाके का सांसद से लेकर सरपंच तक शामिल होगा और इस मसले पर चर्चा कर समाधान निकालने की कोशिश करेगा।

सोनी सोरी ने नक्सलवाद के नाम बस्तर के आदिवासियों के साथ बदसलूकी और प्रताडऩा पर सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि नक्सली खात्मा के नाम बस्तर में आम आदिवासी मारे जा रहे हैं। उन्होंने नुलकतोड़ मुठभेड़ को फर्जी बताते हुए सुरक्षा बलों पर भोले भाले आदिवासियों की हत्या का आरोप लगाया।

Summary
Review Date
Reviewed Item
सरकार चुनाव से पहले मुझे फंसाकर भेजना चाहती है जेल :सोनी सोरी
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt