गोवर्धन पूजा के दिन मनाया जाएगा ’गौठान दिवस’

राजशेखर नायर

धमतरी. प्रदेश सरकार की महत्ती सुराजी गांव योजना के तहत् बनाए गए गौठानों में इस गोवर्धन पूजा के मौके पर ’गौठान दिवस’ मनाया जाएगा। कलेक्टर श्री रजत बंसल ने आज समय सीमा की बैठक लेते हुए सभी सेक्टर अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे प्रदेश सरकार की मंशा अनुरूप जिले में बने सभी 61 गौठानों में ’गौठान दिवस’ मनाने आवश्यक व्यवस्थाओं का जायजा लें।

साथ ही सुनिश्चित् करें कि गौठान दिवस से पहले ही ग्रामीणों में से अध्यक्ष एवं सदस्य बनाकर गौठान सेवा समिति का गठन कर लिया गया है, जिससे कि गौठान दिवस के मौके पर उक्त समिति को औपचारिक रूप से कार्यभार सौंपा जा सके। कलेक्टोरेट सभाकक्ष में सुबह 11 बजे से आहूत समय सीमा की बैठक में कलेक्टर ने यह भी निर्देश दिए कि तत्काल उक्त समिति के बैंकों में खाते भी खोले जाएं, ताकि नवंबर माह से इनके खातों में आबंटन उपलब्ध कराने की प्रक्रिया शुरू की जा सके।

इसके अलावा यदि कहीं नवीन गौठान चयनित अथवा स्वीकृत हो तो उनका भूमिपूजन भी पंचायत एवं गांव के समक्ष उस दिन कराया जाए। साथ ही इन गौठानों में पशु चिकित्सा विभाग द्वारा मवेशियों का डीवर्मिंग भी कराने के निर्देश बैठक में कलेक्टर ने दिए। आज की समय सीमा की बैठक में कलेक्टर ने जिले में बेमौसम बारिश से फसलों को हुई क्षति का आंकलन की समीक्षा की।

सभी सेक्टर प्रभारियों को गौठानों में आवश्यक व्यवस्था करने कलेक्टर ने दिए निर्देश

उन्होंने राजस्व एवं कृषि अमले को संयुक्त रूप से अगले छः दिनों के भीतर फसल क्षति का आंकलन करने के सख्त निर्देश दिए, ताकि प्रभावितों को मुआवजा दिलाने के लिए आगे की कार्रवाई जल्द शुरू की जा सके। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.डी.के.तुर्रे द्वारा राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत् डेंगू नियंत्रण एवं बचाव की कार्ययोजना के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई।

उन्होंने बताया कि साफ पानी में पनपने वाली मादा एडिस मच्छर के संक्रमित होने तथा काटने से डेंगू के वायरस व्यक्ति के शरीर में प्रवेश करते हैं। इसके लिए जरूरी है कि घर तथा शासकीय कार्यालयों के आसपास जमे हुए पानी को हटाया जाए तथा जलभराव वाले स्थान में टेमिफाॅस का छिड़काव किया जाए।

कलेक्टर ने आयुक्त, नगरपालिक निगम को निर्देशित किया कि डेंगू से बचाव के लिए चिन्हांकित वार्डों में एंटी लार्वा फाॅगिंग किया जाए तथा घरों के अंदर व बाहर ठहरे हुए पानी को खाली कराने, कूलर, टंकी और टायर में जमे पानी के लार्वा को नष्ट करने एंटी लार्वा फाॅगिंग स्प्रे कराना सुनिश्चित् करें।

साथ ही लोगों को स्वास्थ्य शिक्षा दी जाए, जिससे कि डेंगू के लक्षण और उससे बचाने के उपायों से वे वाकिफ हों। उन्होंने डेंगू से बचाव के लिए जिला स्तर पर निगरानी समिति का गठन करने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए हैं, जिसमें स्वास्थ्य, नगरनिगम, महिला एवं बाल विकास तथा अन्य विभाग के अधिकारी रहेंगे। बैठक में समय सीमा के पत्रों की समीक्षा की गई। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री विजय दयाराम के., अपर कलेक्टर श्री दिलीप अग्रवाल सहित जिला स्तरीय अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Back to top button