छत्तीसगढ़

तीन सूत्रिय मांगों को लेकर 9 अगस्त को ग्राम कचंदा के निवासी करेंगे चक्काजाम

-धनेश्वर साहू

जैजैपुर।

ग्राम पंचायत कचदा के निवासी 2 दिनों से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। वहीं मालखरौदा क्षेत्र के तहसीलदार प्रियंका बंजारा ने अनिश्चितकालीन हड़तालियों का जवाब सुना और उन्होंने विधिवत कार्यवाही करने की बात कही। आंदोलनकारी तहसीलदार बंजारा के जवाब के विरोध में 9 जुलाई 2018 को 3 सूत्रीय मांग को लेकर चक्काजाम आंदोलन करेंगे।

– पट्टा को निरस्त कर अवैध कब्जा हटाने की मांग

जिसमें ग्राम पंचायत कचंदा के निवासी के द्वारा इंदिरा हरेली सहेली पट्टा को निरस्त कर अवैध कब्जा हटाने की मांग किया है।  वहीं पर शासकीय भूमि खसरा नंबर 60 /1 में से 4 एकड़ भूमि को आवास प्लाट घोषित करने की मांग रखा, जहां पर उत्तरा चन्द्रा सरपंच के द्वारा शासकीय भूमि खसरा नंबर 887/1(क) में से 10 एकड़ भूमि को मां खम्भेश्वरी देवी की मेला स्थल के रूप में राजस्व रिकॉर्ड चिन्हांकित करने की मांग रखा।

लेकिन तहसीलदार के विरोध करते हुए ग्राम पंचायत कचंदा के समस्त ग्रामवासी ने 9 जुलाई को जैजैपुर में अपनी मांगों को लेकर चक्काजाम करेंगे।
उनका कहना है कि पूर्व में भी जो बेजा कब्जा किए हैं उनका तोड़ा गया है। बार-बार तोड़ने के बाद उनके ऊपर सही कार्यवाही नहीं होने से हम लोग चुप होकर अब नहीं बैठेंगे। अब चक्काजाम आंदोलन से ही निर्णय आएगा।

उन लोगों के खिलाफ जेल भेजने की कार्यवाही किया जाए तथा उनके उपर मुकदमा दायर किया जाए। पूर्व में मेरे द्वारा सरपंच उत्तरा कुमारी के खिलाफ पुलिस ने ही उल्टा परिवारिक प्रकरण बनाकर न्यायालय में पेश किया, जिनकी आज मैं तहसील में सरपंच कचंदा ही आ रही है।

इससे उन्हें शासन प्रताड़ित कर रहा है जबकि शासन की ओर से उन्हें किसी प्रकार की सहायता नहीं मिलने से पूरे गांव के लोग एकजुट होकर यहां पर अनिश्चितकालीन आंदोलन में शरीक हो रहे हैं।

जबकि इस समय हमारे किसानों का खेती किसानी का वक्त है। जिसे त्याग कर ग्राम पंचायत कचंदा के लोग आंदोलन में शरीक हो रहे हैं शासन को ध्यान देना चाहिए कि किसानों की समस्या का निदान करते हुए आंदोलन में सहयोग प्रदान करें।

Summary
Review Date
Reviewed Item
तीन सूत्रिय मांगों को लेकर 9 अगस्त को ग्राम कचंदा के निवासी करेंगे चक्काजाम
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags