अन्यराज्य

दादी को थी पोते की ख्वाहिश,जला दिया 4 साल की पोती को

दादी को थी पोते की ख्वाहिश थी,लेकिन लगातार तीसरी बार पोती होने से नाराज दादी ने पोती को जलाने की कोशिश की.हरियाणा के सिरसा जिले में अपनी चार साल की पोती के गुप्तांग को चिमटे से जलाने के आरोप में 55 वर्षीय एक महिला को गिरफ्तार किया गया.

वह तीसरी पोती के जन्म से नाराज थी. पुलिस ने यह जानकारी दी.सिरसा जिले के डिंग थाने के प्रभारी निरीक्षक जांगीर सिंह ने बताया कि महिला की पहचान कमला के तौर पर हुई है और वह तब से अपनी बहू को कोस रही थी, जब चार साल पहले तीसरी पोती का जन्म हुआ था.

उन्होंने कहा कि शुरुआती तहकीकात में यह भी सामने आया है कि कमला ने पहले बच्ची की हत्या करने की कोशिश की थी, जिसके लिए उसके खिलाफ प्राथमिकी में हत्या की कोशिश का आरोप शामिल किया गया है.

जांगीर सिंह ने कहा, ‘हमने सिरसा के मौजूखेड़ा गांव में उसके घर के पास से उसे गिरफ्तार कर लिया.’ उन्होंने कहा, ‘उसके खिलाफ किशोर न्याय (देखलभाल और बच्चों का संरक्षण) अधिनियम 2015 के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है.’

थानाध्यक्ष ने कहा कि आरोपी तीन पोतियों के जन्म होने की वजह से ‘नाराज’ थी. सिंह ने कहा कि सिरसा जिला बाल संरक्षण समिति के सदस्यों को घटना के बारे में जानकारी मिली और उन्होंने बच्ची को बचाया तथा अस्पताल में भर्ती कराया। बाद में उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई.

हरियाणा में चल रहा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान

गौरतलब है कि हरियाणा में बिगड़ते लिंग अनुपात को ठीक करने के मकसद से ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान शुरू किया गया था. सिंह ने कहा कि आरोपी अनपढ़ है, जबकि उसकी बहू भी कमला के व्यवहार के बारे में शिकायत करने को लेकर अनुच्छिक थी.

उन्होंने कहा, ‘कमला तीसरी बेटी को जन्म देने के लिए बहू को कोसा करती थी. वह उसे ताने भी मारती थी कि वह परिवार में अकेली है जिसकी इतनी बेटियां हैं.’

थानाध्यक्ष ने कहा कि बच्ची के पिता ने भी पुलिस को अपनी मां के कृत्य को लेकर बयान दिया है. बच्ची की हालत पर सिंह ने कहा कि लड़की को शुरू में सिरसा के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया और बाद में उसे छुट्टी दे दी गई.

बहरहाल, जिला बाल सरंक्षण समिति के लोगों ने उसकी हालत की वजह से उसे फिर से अस्पताल में भर्ती कराया है.

Tags
Back to top button