छत्तीसगढ़

वनांचल क्षेत्रों में ग्रामीण जमकर तोड़ रहे हरा सोना

अब मौसम की मार झेल रहे हैं जो संग्रहकर्ताओं के लिए बड़ी चुनौती

बालोद : जिलेभर के वनांचल क्षेत्रों में तेंदूपत्ता तोड़ने का कार्य युद्धस्तर पर जारी है। अंतिम चरण पर आ चुके तेंदूपत्ता संग्रहण अब मौसम की मार झेल रहे हैं जो संग्रहकर्ताओं के लिए बड़ी चुनौती बन गए हैं. इसके बाद भी जिले में रखा गया लक्ष्य पूरा होता दिखाई दे रहा है ।

बता दें कि जिले में पखवाड़े भर से बेमौसम बारिश होने के बावजूद जिले के वनांचल क्षेत्र के ग्रामीणों ने जमकर तेन्दूपत्ता का तोड़ने का कार्य किया है। और 16 मई तक ही लक्ष्य का 78 प्रतिशत पत्ता संग्रह कर फड़ों में जमा करा दिया है। वही इस वर्ष विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही प्रदेश सरकार ने प्रति मानक बोरा पत्ता की कीमत 1800 रुपए से बढ़ा कर 2500 रुपए कर दिया है, इसलिए ग्रामीण उत्साहित हैं,और तेजी से हरा सोना एकत्र करने में जुटे हैं।

जिला वनोपज समिति ने इस बार अपनी 17 समितियों के माध्यम से कुल 25 हजार 900 मानक बोरा पत्ता संग्रहण का लक्ष्य निर्धारित किया था, जो अबतक 21हजार मानक बोरा का लक्क्ष प्राप्त कर लिया गया है। वहीं इस बार तेन्दूपत्ता दर बढ़ाने से तेंदूपत्ता तुड़ाई करने वाले हितग्राहियों में हर्ष है और वे अपने परिवार के सदस्यों के साथ ज्यादा से ज्यादा पत्ता संग्रहण करने में जुटे हुए हैं. आने वाले चार – पांच दिनों में ही लक्ष्य का शेष मानक बोरा से भी ज्यादा पत्ता संग्रहित हो जाएगा।

Summary
Review Date
Reviewed Item
वनांचल क्षेत्रों में ग्रामीण जमकर तोड़ रहे हरा सोना
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.