गरियाबंद: किसानों के बाद शिक्षक फेडरेशन ने कॉंग्रेस सरकार को याद दिलाया घोषणा पत्र का वादा

राज्यपाल के नाम से कलेक्टर को सौंपा मांग संबंधित ज्ञापन

गरियाबंद। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद अब धीरे धीरे विभिन्न संगठन चुनाव के दौरान कांग्रेस द्वारा की गई घोषणा व वादो को याद दिला रहे है। पूर्व सरकार में लंबित रही मांगो तथा कांग्रेस द्वारा की गई घोषणा को पूरा करने की मांग कर रहे है।

मंगलवार को किसानों के द्वारा कर्जमाफी की घोषणा को पूरा करने की मांग के बाद सहायक शिक्षक फेडरेशन ने भी अपनी चार सुत्रीय मांगो को पूरा करने के लिए राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन सौपंने के बाद फेडरेशन के जिला संयोजक अशोक तिवारी ने बताया कि पूर्व सरकार के द्वारा शिक्षाकर्मियो के संविलियन करने के बाद से नवगठित सहायक शिक्षक फेडरेशन क्रमोन्नति, वेतन विसंगति, वर्ष बन्धन एवं अनुकम्पा नियुक्ति सहित चार सुत्रीय मांगो को लेकर लामबंद है।

चुनाव के पूर्व भी फेडरेशन के 1,09,000 सहायक शिक्षक एलबी/पंचायत संवर्ग ने इन मांगों को लेकर राजधानी में एक बड़ा आंदोलन किया था लेकिन तत्कालिन भाजपा सरकार ने
उनकी मांगो को अनदेखा कर दिया था।

इस दौरान कांग्रेस के घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष टीएस सिंह देव से भी फेडरेशन की मुलाकात हुई थी और उनके द्वारा हमारी मांगो को समर्थन देते हुए कांग्रेस के जनघोषणा पत्र में इसे शामिल किया गया था।

लंबित चार सुत्रीय मांगो को वे शीघ्रता से पूरा करे


तिवारी ने कहा कि प्रदेश में भारी बहुमत से कांग्रेस की सरकार बनी है। इसलिए कांग्रेस सरकार से मांग करते है कि उनकी लंबितचार सुत्रीय मांगो को वे शीघ्रता से पूरा करे।

इस दौरान फेडरेशन संस्थापक व प्रान्तीय संयोजक इदरीश खान, जिला संयोजक अशोक तिवारी, सहसंयोजक यादवेंद्र गजेंद्र, राजेन्द्र ठाकुर, छबिश्याम साहू, डोमेन्द्र कँवर,
व्यंकटेश साहू आदि उपस्थित थे।

1
Back to top button