जीएसटी, नोटबंदी और सरकार के हर फैसले में दिखेगा टाइपो एरर -राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष ने मंगलवार को मोदी सरकार पर साधा निशाना

नई दिल्ली:

राफेल डील मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के सवाल पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अभी तो पीएम मोदी सरकार के टाइपो एरर निकलने शुरू हुए हैं.

मोदी सरकार के अभी कई और टाइपो एरर निकलेंगे. राहुल ने कहा, ‘सरकार में अब कई टाइपो एरर निकलेंगे. एक के बाद एक टाइपो एरर दिखेंगे. जीएसटी, नोटबंदी में और सरकार के हर फैसले में टाइपो एरर दिखेगा. नोटबंदी दुनिया का सबसे बड़ा स्कैम था.

इसका लक्ष्य था अपने मित्रों को पैसा बांटा जाए.’ उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी का हिंदुस्तान ‘अमीरों का हिन्दुस्तान’ है. साथ ही उन्होंने कहा कि किसानों के कर्ज माफी के लिए हम केंद्र सरकार पर दबाव बनाएंगे.

राहुल ने कहा, ‘हिंदुस्तान में एक तरफ मजदूर किसान हैं तो दूसरी तरफ 15 -20 अमीर है. मोदी जी ने साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए 15-20 लोगों के जेब में डाला है. हमारी चुनाव में जीत हिंदुस्तान के गरीब जनता की है.

मोदी जी के दो हिंदुस्तान हैं. एक हिंदुस्तान 15-20 लोगों का कर्ज माफी का, दूसरा गरीब लोगों का और किसानों का है. हमनें वादा किया किया था दस दिन के अंदर किसानों का कर्जा माफ करेंगे.

दो राज्यों में छह घंटे भी नहीं लगे और तीसरे राज्यों में भी जल्द कर्ज माफ होगा. मोदी जी चार साल से पीएम हैं, किसान का एक रुपया माफ नहीं किया.

साथ ही उन्होंने कहा, ‘मैं कहना चाहता हूं कि हम सभी पार्टी मिलकर मोदी जी से किसान का कर्जा माफ करा कर रहेंगे. यह देश किसान का है, 15 उद्योगपतियों का नहीं है. हम आपकी आवाज पहुंचाने का काम कर रहे हैं. हमनें तीन राज्यों में कर्ज माफ किया है और आगे भी करेंगे. मोदी जी से भी करवाएंगे.’

राफेल डील मुद्दे पर उन्होंने कहा, ‘उद्योगपतियों को राफेल मामले में चोरी करके पैसा दिया गया है. उसकी जांच होगी. मोदी जी राफेल मुद्दे पर भाग रहे हैं. पीएम बताएं कि उन्होंने किसानों का कर्जा माफ क्यों नहीं किया?

और कब तक करने जा रहे हैं? मोदी जी के पास च्वाइस थी कि वह कर्जा माफ करें या चोरी करें. उन्होंने राफेल और नोटबंदी के माध्यम से पैसे चुराए और किसानों का कर्जा माफ नहीं किया.’

सिख दंगों पर आए फैसले के बारे में सवाल पूछा गया तो राहुल ने कहा कि दंगों को लेकर मेरा स्टैंड साफ है. यह प्रेस कॉन्फ्रेंस सिर्फ नरेंद्र मोदी को लेकर है. जिन्होंने किसानों का कर्जा माफ न करने की बजाय उद्योगपतियों का कर्जा माफ किया.

advt
Back to top button