छत्तीसगढ़

अतिथि शिक्षक ने विधायक गुलाब कमरो से कांग्रेस जन घोषणा पत्र के वादे अनुसार नियमितीकरण और गत 5 माह से लंबित वेतन भुगतान के संबंध में लगाई गुहार

बीहड आदिवासी अंचल में ज्ञान की ज्योति बिखेर रहे कोरिया जिले के विद्या मितान शिक्षकों (अतिथि शिक्षक) ने विधायक एवं सरगुजा विकास प्राधिकरण (राज्यमंत्री )गुलाब कमरो से कांग्रेस जन घोषणा पत्र के वादे अनुसार नियमितीकरण और गत 5 माह से लंबित वेतन भुगतान के संबंध में लगाई गुहार

ब्युरो चीफ : विपुल मिश्रा

कोरिया : सरगुजा विकास प्राधिकरण उपाध्यक्ष एवं विधायक माननीय गुलाब कमरो (राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त)जी से विद्यामितान शिक्षक संघ(अथिति शिक्षक) कोरिया के पदाधिकारी व सदस्यों ने सौजन्य मुलाकत कर शॉल, श्रीफल एवं विघ्न हर्ता गणेश जी की प्रतिमा गणेश चतुर्थी के दिन भेंट कर उन्हें सम्मानित किये।

साथ ही संघ के पदाधिकारियों ने अपनी मांगों से सम्बंधित ज्ञापन सौपा

कुछ माह पूर्व महोदय की कृपा से कोरिया जिले के वंचित विद्यामितानों के लिए 26 सीट कन्वर्ट हुआ था गत चार वर्षों से बीहड़ इलाकों में शिक्षा की अलख जगाने वाले लगभग 2500 विद्या मितान शिक्षक (जिसको वर्तमान कांग्रेस सरकार ने अतिथि शिक्षक नाम दिया है ) अब तक अपने सुरक्षित भविष्य हेतु गहरी चिंता में डूब रहे हैं, ज्ञात हो पूर्ववर्ती सरकारों ने इनके भविष्य के साथ अन्याय तो किया,

किन्तु वर्तमान कांग्रेस सरकार के आने से इनमें भविष्य के सुरक्षा के प्रति आस बंधी है,क्योंकि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव, गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू,आबकारी मंत्री कवासी लखमा, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल सहित तमाम मंत्री एवम् विधायकों ने चुनाव पूर्व इन शिक्षकों से नियमितीकरण करते हुए सुरक्षित भविष्य का आस बांधा था पूर्व में नियमितीकरण के आंदोलन में वादा करते हुए अनशन तुड़वाया था, तथा सरकार बनते ही नियमितीकरण का भरोसा दिलाया था,

इस संदर्भ में समय समय पर विधान सभा में सवाल उठते रहे हैं, विशेष मंत्री परिषद् के बैठकों में भी मूल छत्तीसगढ़िया विद्या मितानों के हितों का संरक्षण करने के फैसले भी लिए गए हैं, इस संदर्भ में पहल करते हुए वर्तमान शिक्षामंत्री डॉ. प्रेमसाय टेकाम के द्वारा विद्या मितान शिक्षकों को शिक्षा कर्मी वर्ग 1 (व्याख्याता पंचायत) में मर्ज करने हेतु राज्य के मुख्य सचिव को कार्यालयीन पत्र भी लिखा था, किन्तु उस पत्र को साल भर से अधिक होने जा रहा है,

लगभग 300 विद्या मितान शिक्षकों को छंटनी करते हुए बाहर कर दिया गया

अब तक कोई कार्यवाही नजर नहीं आती , गत महीने राज्यपाल महोदया के द्वारा भी इनको शिक्षा विभाग में नियमित करने हेतु छत्तीसगढ़ शासन के प्रमुख सचिव को पत्र लिखा गया है, बड़ी बात यह है की लगभग 300 विद्या मितान शिक्षकों को छंटनी करते हुए बाहर कर दिया गया है, जबकि सभी विद्या मितान शिक्षक विषय विशेषज्ञ संबंधित विषय में पी.जी और बी. एड प्रशिक्षित होने के साथ – साथ 5 वर्ष शिक्षकीय अनुभव सहित पर्याप्त योग्यता रखने और उत्कृष्ट योगदान देने के कारण ही आज सुकमा, बस्तर जैसे बीहड़ वनांचल में शिक्षा का स्तर सुधरा है और आज वे टॉप टेन में गिने जा रहे, अधिकांश स्कूलों में जहां विद्या मितान शिक्षक (अतिथि शिक्षक) सेवा दे रहे हैं, वहां उन विषयों में शत प्रतिशत परिणाम प्राप्त हुए हैं,

बावजूद इसके ये शिक्षक प्रशासन के अनदेखी से घोर निराशा और अवसाद में घिरते जा रहे हैं, इनकी स्थिति अत्यंत दयनीय होती जा रही है, इस पर तत्काल ध्यान देने की जरूरत है, गत 5 माह से वेतन भुगतान नहीं होने से इनकी आर्थिक हालात बिगड़ चुके हैं, इसलिए अब इन शिक्षकों के पास हर जगह नेता मंत्रियों के पास गुहार लगाने के सिवा कोई दूसरा रास्ता ही नहीं है, क्योंकि अधिकांश शिक्षक नौकरी की निर्धारित आयु पार कर चुके हैं, तो कइयों के पास रोज़ी रोटी की संकट आन पड़ी है,

सरगुजा विकास प्राधिकरण उपाध्यक्ष (राज्यमंत्री) गुलाब कमरो

इसी कड़ी में सरगुजा विकास प्राधिकरण उपाध्यक्ष (राज्यमंत्री) गुलाब कमरो को कोरिया जिले के विद्यामितान शिक्षकों (अतिथि शिक्षक) के द्वारा ज्ञापन सौंपा गया। जिस पर उन्होंने हमलोगों के लिए सकारात्मक रिजल्ट आने और विधानसभा में ध्यानाकार्षण प्रश्न लगाने एवं सी0एम0साहब से व्यक्तिगत बात रखने हेतु आश्वासन दिये हैं। चर्चा करते हुए विद्या मितान अतिथि शिक्षकों के नियमितीकरण के लिए सकारात्मक निर्णय लेने का वादा भी किया।

कुछ माह पूर्व कोरिया जिले के वंचित विद्यामितानों के लिए इन्होने 26 सीट कन्वर्ट करा कर पुनः नियुक्ति दिलाई थी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button