आकलन से सुधरेगी शिक्षकों और बच्चों की दिशा और दशा

दीपक वर्मा आरंग:

आरंग: राज्य शासन के द्वारा शिक्षकों एवम छात्रों में गुणवत्ता लाने हेतु (एसएलए) राज्य स्तरीय आकलन अभियान चलाया जा रहा है। विकास खंड शिक्षा अधिकारी आरंग डी एस चौहान ने विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि प्रमुख सचिव छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग गौरव द्विवेदी व मिशन डायरेक्टर समग्र शिक्षा अभियान पी दयानंद के द्वारा वीडियो कान्फ्रेंसिंग के द्वारा राज्य में आकलन, मूल्यांकन के लिये आवश्यक दिशा निर्देश जारी किये गये हैं।

2020-21 में होगा एन्ड लाइन आकलन

बीइओ चौहान ने बताया कि राज्य स्तरीय आकलन कार्ययोजना तीन वर्षों के लिए लागू होगी। वर्तमान सत्र 2018-19 में बेसलाइन आकलन कक्षा 1 से 8 तक के समस्त शासकीय शालाओ में संचालित किया गया है, साथ ही सत्र 2019-20 में यह मिड लाइन आकलन कहलायेगा और अंतिम वर्ष 2020-21 में एन्ड लाइन आकलन होगा।

प्राथमिक व उच्च प्राथमिक मिलाकर 41517 विद्यार्थियों की प्रविष्टि

वर्तमान में आरंग विकासखंड में बेसलाइन आकलन में प्राथमिक व उच्च प्राथमिक मिलाकर 41517 विद्यार्थियों की प्रविष्टि है, इन बच्चों का आकलन राज्य शासन से प्राप्त प्रश्न सह उत्तरपुस्तिका के माध्यम से करते हुए मूल्यांकन कार्य 19 संकुल केन्द्रों में संपादित है और उत्तर पुस्तिकाएं बोर्ड परीक्षा की तर्ज पर अलग अलग संकुलों में जांची जा रही है।

इस कार्य मे समस्त प्राथमिक व उच्च प्राथमिक के शिक्षक रूचि लेते हुए मूल्यांकन पत्रक में अंक प्रविष्ट कर रहे हैं। बीइओ चौहान ने आगे बताया कि जिलाशिक्षाधिकारी जी आर चन्द्राकर व सहायक संचालक डीईओ कार्यालय आर एस चौहान के मार्गदर्शन में कार्य प्रगति पर है और विद्यार्थियों के अंक शिक्षण अधिगम प्रतिफल के आधार पर (एसएलए) एप में एंट्री की जा रही है।

साथ ही कमजोर विद्यार्थियों को उपचारात्मक शिक्षण के द्वारा आगे बढ़ाया जाएगा और इन आकलनों का उद्देश्य छात्र छात्राओं को कमजोर शैक्षणिक स्थिति से निकालकर कक्षानूरूप शैक्षिक स्तर तक लाया जाएगा।

आकलन कार्य को प्रभावी रूप से संपादित करने के लिये आरंग विकासखंड को 4 भागो में बांटकर पृथक पृथक नोडल अधिकारी क्रमशः सहायक विकासखंड शिक्षा अधिकारी द्वय आलोक चांडक, दिनेश शर्मा, विकासखंड श्रोत समन्वयक मातलि नंदन वर्मा व साक्षर भारत परियोजना अधिकारी जयप्रकाश शर्मा बनाये गए हैं और अभी तक 173149 उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन हो चुका है जिससे प्राथमिक 93 प्रतिशत व मिडिल का 44 प्रतिशत मूल्यांकन कार्य हो चुका है।

इस प्रकार आकलन मूल्यांकन कार्य मे आरंग विकासखंड अग्रणी चल रहा है। बीईओ चौहान ने इसके लिये शिक्षकों की सराहना की है। जानकारी शिक्षक अरविन्द वैष्णव ने दी।

Back to top button