राष्ट्रीय

रेप के आरोपी जैन मुनि बोले- लड़की के साथ सब सहमति से हुआ, पुलिस ने भेजा जेल

सूरत : 19 साल की लड़की से रेप के आरोपी 49 साल के जैन मुनि आचार्य शांति सागर ने दावा किया है कि उन्हें फंसाया गया है। मेडिकल के दौरान उन्होंने डॉक्टर से कहा, ‘मैं लड़की को 5-6 महीने से पहचानता हूं। वह पहली बार मिलने के लिए फैमिली के साथ सूरत आई थी। टीमलियावाड नानपुरा धर्मशाला में लड़की की रजामंदी से 1 अक्टूबर को संबंध बनाए। जीवन में पहली बार ऐसा किया।’ यह बात डॉक्टर ने मेडिको लीगल केस रजिस्टर में दर्ज की है। डॉक्टर ने मुनि से पूछा- आप साधु हैं, ऐसा क्यों किया? इस पर मुनि ने सिर झुका लिया। शनिवार रात गिरफ्तारी के बाद 10 से 11.45 बजे तक मुनि का मेडिकल हुआ। इस दौरान जरूरी सैंपल नहीं लिया जा सका। डॉक्टरों ने कहा कि मुनि तनाव में हैं। पुलिस उन्हें जांच के लिए दोबारा लेकर आए। सूत्रों के अनुसार मामला संवेदनशील होने के चलते पुलिस फॉरेंसिक जांच करवाने की भी तैयारी कर रही है। शांति सागर को पुलिस ने शनिवार रात ड्यूटी मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया पर रिमांड नहीं मांगा। पुलिस का कहना है कि कोई सामान बरामद नहीं करना है। कोर्ट ने उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। रात 12:35 बजे जैन मुनि को जेल भेज दिया गया। इन्वेस्टिगेशन अफसर डीके राठौड़ ने बताया कि चार लोगों ने इस केस में बयान दिए हैं। चारों का दावा है कि लड़की और आचार्य की मौजूदगी में वह भी वहां थे।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *