गुजरात : केमिकल फैक्ट्री के टैंक की सफाई करने गए 5 श्रमिकों की मौत

ये सभी श्रमिक फार्मास्यूटिकल कंपनी की एक ईकाई के भूमिगत टैंक की सफाई करने के लिए गये थे.

गांधीनगर: गुजरात में शनिवार को 5 श्रमिकों की मौत हो गयी. ये सभी श्रमिक फार्मास्यूटिकल कंपनी की एक ईकाई के भूमिगत टैंक की सफाई करने के लिए गये थे. घटना गांधीनगर जिला के कलोल स्थित खटराज गांव में हुई. बताया जा रहा है कि ये लोग वेस्ट वाटर टैंक की सफाई करने गये थे.

घटना की सूचना मिलते ही लोगों ने प्रशासन को इसकी जानकारी दी. स्थानीय जनप्रतिनिधियों और प्रशासन ने फायर ब्रिगेड को सूचना दी. फायर ब्रिगेड की टीम ने आनन-फानन में टंकी में उतरे सभी 5 श्रमिकों के शव निकाले गये. प्राथमिक जांच के बाद कहा गया है कि सभी की मौत दम घुटने की वजह से हुई है. हालांकि, पोस्टमार्टम रिपोर्ट अभी तक नहीं आयी है.

गंदे पानी की टंकी की सफाई करने के लिए उतरे थे

बताया जा रहा है कि जैसे ही पांच लोगों की मौत की सूचना फैली, वहां भारी भीड़ एकत्र हो गयी. मामले की जांच-पड़ताल शुरू कर दी गयी है. स्थानीय लोगों ने बताया कि गंदे पानी की टंकी की सफाई करने के लिए उतरे थे.

अग्निशमन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि मजदूरों की मौत जहरीली गैस की वजह से हुई. गांधीनगर के मुख्य अग्निशमन अधिकारी महेश मोद ने बताया कि घटना कलोल तालुका में दवा कंपनी के एक अपशिष्ट शोधन संयंत्र में दोपहर में हुई.

मोद ने बताया, ‘चूंकि आज संयंत्र बंद था, प्रबंधन ने टैंक को साफ करने का फैसला किया था, जहां मल शोधन के लिए भेजे जाने से पहले कारखाने के तरल कचरे को संग्रहीत किया जाता है. हालांकि, टैंक में शायद कोई तरल कचरा नहीं था, लेकिन मजदूरों को इसके अंदर जहरीली गैस की मौजूदगी का पता नहीं था.’

उन्होंने बताया कि एक मजदूर टैंक के भीतर बेहोश हो गया, जिसके बाद चार अन्य उसे बचाने के लिए एक के बाद एक अंदर घुसते गये और जहरीली गैस की वजह से आखिरकार पांचों की मौत हो गयी. अधिकारी ने बताया कि फैक्टरी के मालिकों ने अपने मजदूरों को किसी तरह का सुरक्षा उपकरण या मास्क नहीं उपलब्ध कराये थे.

मोद ने बताया कि मृतकों की पहचान विनय, शाही, देवेंद्र कुमार, आशीष कुमार और रंजन कुमार के रूप में हुई है. सभी की उम्र 30 से 35 साल के बीच थी.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button