दसवीं के छात्र 2+2 का जोड़ भी नहीं बता सके

गुजरात बोर्ड ने दसवीं के 850 छात्रों के रिजल्ट को कैंसल कर दिया है। बोर्ड ने यह फैसला तब लिया जब ने छात्रों के OMR के रिजल्ट और डिसक्रिप्टिव रिजल्ट में भारी अंतर पाया। इन छात्रों ने ऑब्जेक्टिव क्वेस्चन पेपर में 50 में से 40-49 नंबर पाए हैं वहीं डिसक्रिप्टिव पेपर में इन्हें बस 0 से लेकर 3 नंबर ही आए हैं।

बोर्ड का यह शक तब पूरी तरह यकीन में बदल गया जब इन छात्रों को 100 के बैच में बुलाया गया और उनसे सवाल पूछे गए तो वे 2+2 का भी जोड़ बता पाने में असमर्थ थें। बहुत से छात्र क्रिकेट की सही स्पेलिंग तक नहीं लिख पा रहे थे न ही वह गुजरात की राजधानी बता पाए।

गुजरात बोर्ड के वाइस चेयरमैन आरआर ठक्कर ने कहा कि हमने सौराष्ट्र के दाहोद,माहीसागर, तापी समेत 10 सेंटरों के 850 छात्रों का रिजल्ट कैंसिल कर दिया गया है। हमें परीक्षा में सामूहिक रूप से नकल की कोई सूचना अभी तक नहीं मिली है। हमें उस वक्त आश्चर्य हुआ जब एक एसएससी का छात्र उन सवालों के भी जवाब नहीं दे पाया जिसे 2-5 कक्षा का विद्यार्थी भी आराम से दे सकता है।

बोर्ड के सदस्य के ए. बुटानी ने कहा कि सारे सीसीटीवी फुटेज चेक किए जा चुके हैं पर अभी तक नकल के कोई सबूत नहीं मिले हैं।

Back to top button