गुजरात सरकार की नौकरियों और सब्सिडी की सौगात चुनाव से पहले

गुजरात विधानसभा चुनाव की आहट के बीच मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने नई गारमेंट इंडस्ट्री के लिए नई पॉलिसी का ऐलान किया है. साथ ही सरकार राज्य में रोजगार बढ़ाने के लिए जीआईडीसी के 16 नए इंडस्ट्रियल एस्टेट का निर्माण करवाएगी, जिससे लगभग 1 लाख नौकरियां पैदा होने की उम्मीद है.
सरकार की नई गारमेंट एंड अपेरल नीति के तहत सरकार गारमेंट बनाने वाली महिलाओं को 4000 और पुरुषों को 3500 रुपए सब्सिडी देगी. कर्मचारियों को 5 साल तक सरकार की तरफ से ये सब्सिडी मिलेगा.

सरकार राज्य की कॉटन की फसल का पूरी तरह उपयोग करने के लिए फार्म टू फाइबर, फाइबर टू फेब्रिक, फेब्रिक टू फैशन, फैशन टू फॉरेन पर भी मंजूरी दे दी है. सरकार का लक्ष्य गुजरात को दोबारा भारत का मैनचेस्टर बनाने का है.
गारमेंट इंडस्ट्री में सब्सिडी

सीएम रूपाणी ने एक प्रेस कांफ्रेंस ने में कहा कि ‘गुजरात देश में सबसे ज्यादा कॉटन का उत्पादन करता है. अब तक हम दूसरे राज्यों को निर्यात करते रहे हैं लेकिन अब हमें अपने राज्य के उद्यमियों को ही इस दिशा में कदम बढ़ाने को प्रोत्साहित करना होगा.

राहुल के बयानों से बीजेपी को फायदा’

सीएम ने वडोदरा में मंगलवार को राहुल गांधी के दिए बयानों पर भी बोला. उन्होंने कहा कि रोजगार पर राहुल के बयान बेतुके हैं. रूपाणी ने कहा कि यूपीए सरकार ने खुद सबसे ज्यादा रोजगार देने का अवॉर्ड गुजरात को दिया था.
रूपाणी ने राहुल के आरएसएस पर दिए बयान पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि राहुल की टिप्पणी में नादानी और बचपना है. उन्होंने कहा कि आरएसएस पुरुषों का संगठन है, उस में
महिलाएं कहां से आएंगी. महिलाओं के लिए राष्ट्रीय सेविका समिति है.

उन्होंने कहा कि महिलाएं शॉर्ट्स पहनती हैं, यह कहना भारतीय संस्कृति का अपमान है. राहुल विदेश में पले-बढ़े हैं इसलिए उन्हें कुछ नहीं पता है. रूपाणी ने कहा कि अगर राहुल ऐसी बातें करते रहेंगे तो बीजेपी को ही फायदा होगा .
अभी मंगलवार को ही गुजरात सरकार ने राज्य में पेट्रोल-डीजल के दामों पर से 4 प्रतिशत वैट घटा लिया था.

Back to top button