गुजरातराज्य

गुजरात कांग्रेस प्रभारी अशोक गहलोत ने BJP पर लगाया जासूसी का आरोप

अहमदाबाद: पाटीदार नेता हार्दिक पटेल तथा कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बीच सोमवार को मुलाकात होने की अटकलों के बीच कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने गुजरात पुलिस पर उनकी जासूसी करने तथा अहमदाबाद के उस होटल से सीसीटीवी फुटेज हासिल करने का आरोप लगाया है, जिसमें वह ठहरे हुए हैं.

स्थानीय गुजराती टीवी चैनलों ने राहुल गांधी से हुई ‘खुफिया’ मुलाकात के सबूत के तौर पर हार्दिक पटेल का रात को लगभग 2 बजे लिया गया सिक्योरिटी फुटेज चलाया.

अशोक गहलोत ने आरोप लगाया है कि गुजरात पुलिस तथा खुफिया एजेंसियों के अधिकारियों ने होटल से सीसीटीवी फुटेज हासिल किया, जहां वह दिनभर बैठकें करते रहे हैं.

अशोक गहलोत ने माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा उनके कार्यालय को टैग करते हुए लिखा, “आईबी तथा पुलिस ने होटल से सीसीटीवी फुटेज क्यों ली…? क्या निजता के अधिकार पर सिर्फ #JayAmitShah का हक है…? मैं BJP के आदेश पर की जा रही इस निगरानी की निंदा करता हूं…”

विधानसभा चुनाव का सामना करने जा रहे गुजरात के कांग्रेस प्रभारी ने कहा, ‘’उन्होंने सोमवार को उम्मेद होटल में ही दिनभर में हार्दिक पटेल तथा कई अन्य लोगों से मुलाकात की. उन्होंने ट्वीट किया, “मैंने हार्दिक तथा जिग्नेश से उम्मेद होटल में मुलाकात की.

आईबी और पुलिस होटल के कमरों की जांच कर रही हैं. गांधी जी के गुजरात में क्या हो रहा है? हार्दिक पटेल और जिग्नेश मेवानी अपराधी या भगोड़े हैं?

अगर ऐसा है, तो बीजेपी को अपना रुख साफ करना चाहिए, जब वे बीजेपी नेताओं से मिलते हैं, तब उनके दफ्तरों की जांच नहीं की जाती. अब ऐसा क्यों किया जा रहा है?”

अशोक गहलोत ने यह भी आरोप लगाया कि उनके नाम से बुक किए गए कमरों की जांच की गई. होटल ने इस बात से इंकार किया है, लेकिन होटल के अधिकारियों के हवाले से प्रकाशित ख़बरों में कहा गया है कि पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज मांगी थी, जो उन्हें सौंप दी गई.

समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, सभी गुजराती चैनलों ने लगभग उसी समय उस फुटेज को चला भी दिया था, और सभी ने उसे एक्सक्लूसिव बताया था.

हार्दिक पटेल ने ज़ोर देकर राहुल गांधी से मुलाकात से इंकार किया है, लेकिन एक पब्लिक मीटिंग में कबूल किया कि उनकी मुलाकात अशोक गहलोत से हुई. पत्रकारों से बातचीत में हार्दिक पटेल ने कहा, “यह कतई गलत है कि मेरी राहुल गांधी से मुलाकात हुई.

मैं उनसे तब मिलूंगा, जब वह दोबारा आएंगे और अगर मुजे उनसे मिलना होगा, तो उसे इतना गुप्त रखने की ज़रूरत नहीं होगी. मैं किसी आतंकवादी से मिलने नहीं जा रहा हूं, या मैं आधी रात को नवाज़ शरीफ से मिलने नहीं जा रहा हूं, जैसे नरेंद्र मोदी ने किया था.”

Summary
Review Date
Reviewed Item
गुजरात कांग्रेस
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.