छत्तीसगढ़

पढ़ई तुंहर दुआर के व्यापक प्रचार-प्रसार व ऑनलाईन शिक्षा के उपयोग को बढ़ावा देने शुरू होने जा रहा है गुरु तुझे सलाम अभियान

गुरु तुझे सलाम का यह अभियान विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से विभिन्न चरणों में संचालित होगा।

रायगढ़, 10 जून 2020: राज्य परियोजना कार्यालय समग्र शिक्षा छत्तीसगढ़ अंतर्गत पढ़ई तुंहर दुआर कार्यक्रम के व्यापक प्रचार व प्रसार एवं शिक्षकों, विद्यार्थियों एवं पालकों द्वारा स्कूल शिक्षा विभाग के बेबसाइट के नियमित उपयोग हेतु संकुल स्तर से राज्य स्तर तक गुरु तुझे सलाम अभियान का शुभारंभ 11 जून से होने जा रहा है। गुरु तुझे सलाम का यह अभियान विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से विभिन्न चरणों में संचालित होगा।

गुरु तुझे सलाम अभियान

गुरु तुझे सलाम अभियान की यह संकल्पना प्रदेश के समस्त पालकों, विद्यार्थियों एवं शिक्षकों की महती भूमिका एवं विशेष सहभागिता द्वारा साकार होने जा रही है। आगामी 11 जून 2020 से शुरू होकर 23 जून तक चलने वाले इस अभियान की अवधारणा व इसका स्वरूप अपने आप में कई समाधान एवं विशेषताओं को समेटे हुए है।

गुरु तुझे सलाम अभियान सिर्फ  एक अभियान ही नही है, बल्कि एक सकारात्मक सोच व सशक्त समाधान है। शासन का यह मानना है कि वर्तमान में वैश्विक महामारी की इस कठिन चुनौतियों के बीच में स्कूली शिक्षा की निरंतरता व उपलब्धता की सशक्त व एकमात्र वैकल्पिक व्यवस्था बनी इस पढ़ई तुंहर दुआर की संकल्पना का सही लाभ एवं इसकी सफलता तभी सुनिश्चित हो पायेगी, जब लॉक डाउन की विषम परिस्थितियों के दौरान घर पर रह रहे बच्चों को सीखने हेतु प्रेरित करने अपने बच्चों को वांछित समय पर डिजिटल उपकरण व संसाधन उपलब्ध करा कर अपने बच्चों को सीखने में सहयोग कर रहे।

शिक्षक और उन तमाम पालकों के आपसी संबंध को और सुदृढ बनाया जाएगा

उन तमाम पालकों, अभिभावकों एवं शिक्षकों के बीच के मिसिंग लिंक को पाटा जाएगा। उन तमाम पालकों को उनके इस अतुलनीय सहयोग हेतु उनका आभार व धन्यवाद प्रकट किया जाएगा। शिक्षक और उन तमाम पालकों के आपसी संबंध को और सुदृढ बनाया जाएगा। पालकों से फोन अथवा सीधे संवाद स्थापित करते हुए, उन्हें इस हेतु जरूरी सलाह देकर इस दौर में उनके बच्चो की शिक्षा एवं पढ़ाई लिखाई की प्रगति के विषय मे चर्चा व संवाद किया जाएगा और भविष्य में भी उनसे ऐसे ही और सहयोग की अपेक्षा व अपील की जाएगी।

इसी अनुक्रम  में शिक्षकों के आहा मोमेंट पर 2 मिनट की बात प्रोग्राम के द्वारा गुरु तुझे सलाम अभियान अंतर्गत शिक्षकों के शिक्षकीय जीवन मे आये ऐसे तमाम आहा मोमेंट का संकलन किया जाएगा जो शिक्षकों ने कभी न कभी अपने जीवन मे महसूस किया होगा जिस आहा मोमेंट और आईडिया ने उनके जीवन और सोच की दिशा ही बदल दी। शिक्षकों के अध्यापन के दौरान आये ऐसे तमाम आहा मोमेंन्ट्स नयी खोज, जानकारी और नए आईडियास के संकलन द्वारा इनका शिक्षा, नवाचार और यथोचित परिस्तिथियों में उपयोग किया जा सकेगा।

स्वयं को ग्रूम करने का अवसर

बता दें कि इस अभियान अंतर्गत प्रेरणा स्त्रोत शिक्षक के विषय में बच्चों को 2 मिनट बोलने का अवसर प्रदान कर, शिक्षकों को उनके विद्यार्थियों के बोलने, सोचने व अभिव्यक्ति की क्षमता के साथ साथ यह भी जानने और स्वयं को ग्रूम करने का अवसर मिलेगा कि शिक्षकों की अपनी वो कौन कौन सी विशेषताऐं एवं तत्व हैं जो उनके विद्यार्थियों के बीच शिक्षकों की साख बढ़ाते हैं। साथ ही इस अभियान अंतर्गत वर्तमान में चल रही ऑनलाइन शिक्षा, राज्य शासन से उपलब्ध एप्प इनके उपयोग,बच्चों की अद्यतन स्थिति एवं कोरोना के बाद स्कूल खोले जाने जैसे तमाम महत्पूर्ण विषयों पर पालकों को अपने विचार रखने हेतु 2 मिनट का समय व अवसर भी दिया जाएगा।

इस प्रकार गुरु तुझे सलाम अभियान का सम्पूर्ण संचालन संकुल ब्लॉक, जिला और राज्य स्तरीय कोर ग्रुप के माध्यम से विभिन्न तय तिथियों व समय सारणी अनुसार पढ़ई तुंहर दुआर के प्रचार प्रसार एवं पालक, बालक एवं शिक्षकों के द्वारा स्कूल शिक्षा विभाग की बेबसाईट का नियमित व व्यवस्थित उपयोग के निहितार्थ किया जाएगा और इस हेतु रायगढ़ जिले ने कमर कस ली है

Tags
Back to top button