गुरुग्राम गोलीकांड: हरियाणा पुलिस ने जांच के लिए किया एसआईटी का गठन

डीसीपी सुलोचना गजराज के नेतृत्व में बनी इस SIT में डीसीपी, 2 एसीपी, और 4 इंस्पेक्टर शामिल हैं.

गुरुग्राम। शनिवार की दोपहर 3.30 मिनट पर बीच बाजार में जज के सुरक्षागार्ड ने जज की पत्नी और बेटे को गोलियों से छलनी कर दिया था। पुलिस ने इस मामले में आरोपी सुरक्षा गार्ड महिपाल को गिरफ्तार कर लिया है।

सुरक्षागार्ड के गिरफ्तारी के बाद हरियाणा पुलिस ने जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है। डीसीपी सुलोचना गजराज के नेतृत्व में बनी इस SIT में डीसीपी, 2 एसीपी, और 4 इंस्पेक्टर शामिल हैं.

जानकारी के मुताबिक महिपाल ने रितु के सीने में दो गोलियां मारी और बेटे ध्रुव के माथे पर भी दो गोली मारी.

इस दौरान महिपाल ने मौके पर मौजूद लोगों से कहा कि कोई भी बीच में नहीं आएगा, ये शैतान (बेटा ध्रुव) है और ये उसकी मां (रितु). इसके बाद महिपाल ने दोनों को कार में डालने की कोशिश की लेकिन इसमें असफल रहने पर वो वहां से फरार हो गया.

0-धर्म परिर्वतन को लेकर जज की पत्नी करती थी परेशान

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 40 वर्षीय महिपाल यादव डेढ़ साल से जज कृष्णकांत की सुरक्षा में तैनात था. करीब 8 महीने पहले ही उसने हिन्दू धर्म को त्याग कर क्रिश्चियन धर्म अपनाया था.

बताया जा रहा है कि धार्मिक बातों पर जज की पत्नी के साथ उसकी बहस होती थी. पुलिस हिरासत में भी महिपाल कह रहा था कि धर्म परिवर्तन को लेकर जज की पत्नी उसे परेशान करती थी.

Back to top button