मध्यप्रदेश

ग्वालियर के लड्डू काफी पसंद थे स्व. वाजपेयी जी को, खान-पान था शौक

अटल जी कभी भी दुकान पर अकेले नहीं जाते थे। उनके साथ शीतला सहाय, नरेश जौहरी और 4 से 5 दोस्त होते थे।

देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी को खान-पान का बहुत शौक था। वे मध्यप्रदेश के ग्वालियर में लंबे समय तक रहे और यहां के लड्डू भी उन्हें बहुत पसंद थे। जब वे दिल्ली में रहने लगे तो ग्वालियर से उनके लिए लड्डू जाते थे।

नया बाजार स्थित बहादुरा स्वीट्स के संचालक अम्बिका प्रसाद बताते हैं, अटल जी कभी भी दुकान पर अकेले नहीं जाते थे। उनके साथ शीतला सहाय, नरेश जौहरी और 4 से 5 दोस्त होते थे।

मैं बहुत छोटा था, लेकिन वह लड्डू खाते हुए अक्सर कविताएं भी सुनाया करते थे। उनको लड्डू के अलावा कचौड़ी भी विशेष पसंद थी। ग्वालियर से जो भी अटलजी से मिलने जाता, यहां से लड्डू लेकर जरूर जाता था।

अम्बिका प्रसाद ने अटलजी से जुड़े संस्मरणों को याद करते हुए कहा कि पिताजी बहादुर प्रसाद शर्मा अक्सर कहते थे कि यह बहुत ईमानदार आदमी हैं, इन जैसे इंसान को देश का प्रधानमंत्री होना चाहिए।

जब अटलजी केन्द्रीय मंत्री बने तो पिताजी काफी खुश हुए और मिठाई भी बांटी थी। 1987 में पिताजी बहादुर प्रसाद का निधन हो गया, लेकिन अटलजी के लिए लड्डू बदस्तूर जाते रहे।

प्रधानमंत्री बनने के बाद जब अटलजी ग्वालियर आए थे, तब तो उनके मिलने वाले विशेष रूप से लड्डू लेकर गए थे।

Tags
Back to top button