हैकर का दावा: भारत के चुनावों में EVM किया था हैक, कई राजनीतिक दल टैंपरिंग में शामिल

नई दिल्ली।

देश में लोकसभा चुनाव सिर पर हैं और तमाम राजनीतिक दल अपनी-अपनी तैयारियों में जुटे हुए हैं। लेकिन, इस बीच ईवीएम को लेकर लंदन में हुए एक प्रेस-कॉन्फ्रेंस से हड़कंप मच हुआ है। सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अमेरिकी हैकर सैयद सूजा ने ईवीएम हैकिंग का दावा करके सनसनी फैसला दी।

सूजा ने दावा किया कि उसने भारत में हुए कई चुनावों में ईवीएम हैकिंग का काम किया है। उसने बताया कि ईवीएम को हैक करना बेहद मुश्किल है। ईवीएम को ब्लूटूथ या वाईफाई से हैक नहीं किया जा सकता, लेकिन इसे ट्रांसमीटर के जरिए हैक किया जा सकता है। इसके लिए चिपसेट कर्नेल को बाइपास करना होता है। ईवीएम में काफी पुराना चिपसेट यूज किया जाता है।

यूरोप में इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन की तरफ से आयोजित इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में हैकर ने दावा किया कि उसने 2014 से लेकर तमाम चुनावों में ईवीएम को हैक करने का काम किया। उसका कहना है कि हैकिंग के लिए सिर्फ बीजेपी ही नहीं बल्कि सपा, बसपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी भी शामिल रही हैं।

उसका यह भी कहना है कि हाल में हुए राज्यों के चुनाव में भी ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की गई। सैयद मसूद ने आम आदमी पार्टी के लिए भी काम करने का दावा किया और कहा कि अगर वह नहीं होता तो AAP दिल्ली विधानसभा चुनाव जीतने में कामयाब नहीं होती।

एक्सपर्ट का कहना था कि 2014 के लोकसभा चुनाव में ईवीएम से छेड़छाड़ की जानकारी बीजेपी नेता गोपीनाथ मुंडे को थी। उसने यह भी दावा किया कि जब उनकी टीम बीजेपी के नेताओं से मिलने हैदराबाद गई तो उनपर गोलियां चलाई गई। लेकिन वे सभी बच निकले और अमेरिका चले गए।

1
Back to top button