हाफिज सईद ने फिर उगला जहर, मन्नान वानी को दिया शहीद का दर्जा

अब्दुल मन्नान वानी नाम का जो अजीब शख्स शहीद हो चुका...जो AMU से पीएचडी करके डॉक्टर बनकर निकला था...उसने कश्मीर में कुर्बानी पेश करके दुनिया को पैगाम दिया

नई दिल्ली। लश्कर के आतंकी हाफिज सईद ने एक बार फिर कश्मीरी आतंकियों से रिश्ते के सबूत पेश किए हैं.

साथ ही उसने कश्मीरी आतंकियों समेत सुरक्षाकर्मियों के हाथों मारे गए मन्नान वानी को जेहादी बताते हुए तारीफ में कहा कि वह एक पढ़ा-लिखा पीएचडी स्कॉलर था.

हाफिज सईद का कहना है कि अब्दुल मन्नान वानी नाम का जो अजीब शख्स शहीद हो चुका…जो AMU से पीएचडी करके डॉक्टर बनकर निकला था…उसने कश्मीर में कुर्बानी पेश करके दुनिया को पैगाम दिया.

सईद ने कहा कि वे लोग कहते हैं कि ये जेहाद करने वाले वो लोग हैं जिन्हें खाने को कुछ नहीं मिलता. ये जाहिल किस्म के लोग हैं और जो दुनिया से वाकिफ नहीं हैं.

आज एक पीएचडी डॉक्टर मन्नान वानी कश्मीर में अपनी शहादत पेश करता है, दुनिया को पैगाम देता है.

आतंकी सईद ने आगे कहा कि हमारा अदीम भाई मेराज नाम का शहीद हो रहा है…श्रीनगर का डिस्ट्रिक्ट कमांडर बहुत पढ़ा-लिखा है.

यूनिवर्स‍िटी से पढ़े-लिखे आज वे लोग मैदान में कुर्बानियां दे रहे है तो लाखों लोग आज कश्मीरियों के जनाजों में खड़े हैं. हाथों में पाकिस्तान का झंडा लिए खड़े हुए हैं.

लश्कर आतंकी के मुताबिक, इंडिया और अमेरिका ने मिलकर इस्लामाबाद की हूकूमत को इस तरह से जकड़ रखा है. इन्होंने डॉलर की कीमत बढ़ा-बढ़ाकर डॉलर का मसला खड़ा कर दिया है कि तुम अपने मुस्लिम भाइयों के बारे में सोच भी नहीं सको.

कश्मीर की बात तुम्हारी जुबान पर आ भी न सके. ये खौफनाक अलामी साजिश है…लेकिन सच्ची बात है. साजिशों की जंजीरें कश्मीर काट रही हैं. गुलामी की जंजीरें कश्मीरी काट रहे हैं

Back to top button