राष्ट्रीय

HAL ने कहा, हम ऑफसेट भागीदार बनने की होड़ में नहीं

बेंगलुरूः

राफेल लड़ाकू विमान को लेकर जारी राजनीतिक छींटाकशी के बीच हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक आर. माधवन ने बुधवार को कहा कि उनकी कंपनी किसी भी मूल उपकरण विनिर्माता (ओईएम) का ऑफसेट भागीदर बनने की प्रतिस्पर्धा नहीं कर रही है।

उन्होंने कहा कि एचएएल विमानों के विनिर्माण के लिए पूर्ण प्रौद्योगिकी हस्तांतरण आधारित भागीदार बनना पसंद करेगी। माधवन से पूछा गया था कि क्या एचएएल को राफेल सौदे में ऑफसेट भागीदार बनने के मौके से वंचित रखा गया। राफेल सौदे को लेकर चल रहे विवादों में एक विवाद यह भी है।

माधवन ने कहा, हम किसी भी ओईएम का ऑफसेट भागीदार बनने की होड़ नहीं कर रहे हैं। इससे इतर एचएएल विमानों के विनिर्माण के लिए पूरी तरह से प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण पर आधारित भागीदार बनना पसंद करेगी। उन्होंने कहा कि एचएएल का मुख्य जोर विमानों, हेलीकॉप्टरों और उनसे संबंधित उपकरणों का विनिर्माण एवं रखरखाव पर है न कि ऑफसेट कारोबार। उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण से विमान बनाना ऑफसेट कारोबार से पूरी तरह अलग है।

माधवन ने कहा कि विभिन्न सौदों के तहत एचएएल के पास कुछ ऑफसेट सौदे हैं लेकिन यह कहीं से कारोबार का बड़ा हिस्सा नहीं है। उन्होंने कहा,एचएएल इस तरह के ऑफसेट सौदे करती रहेगी।

Tags
advt