डेढ़ साल की मासूम का अपहरण कर युवक ने किया उसके साथ बलात्कार

पार्सल गोदाम के पास पड़ी मिली बच्ची

नई दिल्ली।

उत्तरी दिल्ली में फुटपाथ पर मां के साथ सो रही एक लगभग डेढ़ साल की मासूम का अपहरण कर एक युवक ने उसके साथ बलात्कार किया। पीड़ित बच्ची बेहोशी की हालत में पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के पार्सल गोदाम के पास पड़ी मिली।

सुबह के समय वहां से निकल रहे किन्नरों ने बच्ची को खून से लथपथ देखा तो रेलवे पुलिस को जानकारी दी। बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। मामला शुक्रवार रात का बताया जा रहा है।

बच्ची का रात 11 बजे अपहरण किया गया

पुलिस ने इस मामले की में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान अनिल (25) के तौर पर हुई है। आरोपी कूड़ा बीनता है और नशे का आदी है। पुलिस के मुताबिक, पीड़ित बच्ची अपने परिजनों के साथ बवाना इलाके में रहती है।

उसके पिता चांदनी चौक में रिक्शा चलाते हैं, जबकि उसकी मां कूड़ा बीनती है। पुलिस ने बताया कि, पीड़ित बच्ची अपनी मां के साथ शुक्रवार रात चांदनी चौक स्थित शीशगंज गुरुद्वारा के पास फुटपाथ पर सो रही थी। देर रात जब मां की आंख खुली तो बच्ची गायब थी। रात को उन्होंने बच्ची की खोजबीन भी की लेकिन कुछ पता नहीं चला।

बच्ची का इलाज करने वाले डॉक्टर तक कांप उठे हैं

पीड़ित बच्ची के माता-पिता ने शनिवार सुबह कोतवाली थाने में बच्ची के लापता होने की खबर दर्ज करायी। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच आरंभ की। इस बीच यह पता चला कि पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के पार्सल गोदाम के पास बेहोशी की हालत में पड़ी है।

पुलिस मौके पर पहुंची। और बच्ची के अस्पताल में भर्ती कराया। बच्ची का शनिवार रात लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल में ऑपरेशन किया गया। उसकी हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है। बच्ची के साथ हुई दरिंदगी से इलाज करने वाले डॉक्टर तक कांप उठे हैं। बच्ची के शरीर को आरोपी ने दातों और नाखूनों से काटा है।

आरोपी रेलवे स्टेशन से हुआ गिरफ्तार

मामले की जांच में जुटी पुलिस ने आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाल आरोपी की पहचान की। इसके बाद उसे स्टेशन के पास से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार आरोपी की पहचान अनिल के तौर पर हुई है।

अनिल आवारागर्द है और चांदनी चौक की फुटपाथ पर रहता है। आरोपी कूड़ा बीनता है और नशे का आदी है। रविवार की शाम करीब पांच बजे बच्ची को देखने के लिए दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल पहुंची।

उन्होंने काफी वक्त हॉस्पिटल में बिताया। स्वाति ने ट्विटर पर लिखा कि, 1.5 साल की बच्ची के नन्हे हाथ जिसके साथ दिल्ली में बर्बरता से रेप हुआ। सुन्न पड़ गयी उसकी हालत देख। कैसी घटिया मानसिकता है। ऐसे जानवरों को तुरंत फांसी देनी चाहिए। पर केंद्र धृतराष्ट्र की तरह आंख बन्द कर बैठा है। समझ नही आता सरकार को जगाने के लिए अनशन तक किया, अब क्या करूँ?

1
Back to top button