बागपत में बंदरों का उत्पात, पत्थर से मार-मारकर की वृद्ध की हत्या

पुलिस ने इत्तेफाकिया में केस दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम करा दिया

मेरठ। बागपत के टीकरी कस्बे में मकान की छत पर बैठे बंदर के कूदने से गली में छत की मुंडेर से ईंटे गिर गई, ईंटे गिरने की वजह से सड़क पर जा रहा एक वृद्ध की मौत हो गई।

बागपत

मृतक के भाई ने थाने पर तहरीर दी है। पुलिस ने इत्तेफाकिया में केस दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम करा दिया। हादसे के बाद लोग बंदरों को पकड़ने की मांग कर रहे हैं।

ये है मामला

कस्बा टीकरी निवासी 72 वर्षीय धर्मपाल के घर में 17 अक्टूबर को हवन होना था, जिसके लिए वह आम के पेड़ से सूखी लकड़ियां लेने जा रहा था।

वह एक मकान की दीवार के पास से निकल रहा था तो उसी समय मकान की दीवार पर बैठा बंदर दूसरे मकान पर खुद गया, जिससे छत की मुंडेर की कुछ ईंट गली में जा रहे धर्मपाल के ऊपर गिर गई। ईंट धर्मपाल के सिर में लग गई, जिससे वह गंभीर रुप से घायल हो गया।

वृद्ध की चीख पुकार सुनकर ग्रामीणों ने उसके परिजनों को सूचना दी। घायल धर्मपाल को परिजन चिकित्सक के यहां ले जाने लगे, लेकिन उसने रास्ते मे ही दम तोड़ दिया। वृद्ध की मौत की सूचना पर घर में कोहराम मच गया। परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है।

बंदरों से परेशान हैं लोग

विनोद, राकेश, सुनील आदि ग्रामीणों ने बताया कि कस्बे में बंदरों के झुंड आए दिन ग्रामीणों पर झपटते रहते हैं। कई बार लोग घायल हो जाते है तो दो दिन पहले इसी तरह के हादसे में धर्मपाल की जान चली गई। खासतौर पर शैतान बंदरों से बच्चे और महिलाएं परेशान रहती हैं।

इत्तेफाकिया में दर्ज किया केस

एसओ दोघट चितवन कुमार ने बताया कि धर्मपाल की मौत बंदर के मकान पर कूदने से गिरी ईंटों से हुई है इसलिए धर्मपाल के छोटे भाई कृष्णपाल की तहरीर पर केस को इत्तेफाकिया में जीडी में दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम कराया गया है। इसमें कोई जांच या विवेचना नहीं होती है।

Back to top button