छत्तीसगढ़राजनीतिराष्ट्रीय

जैजैपुर और पामगढ़ में कड़ा मुकाबला

प्रदीप शर्मा

जैजैपुर विधानसभा क्षेत्र पामगढ़ विधानसभा क्षेत्र

जैजैपुर में त्रिकोणीय संघर्ष, गठबंधन

से मजबूत हुई बसपा की चुनौती 

पामगढ़ में भाजपा को गढ़ बचाने की चुनौती

बसपा और कांग्रेस लगाएगी जोर

केशव चन्द्राअम्बेश जांगडेजांजगीर जिले की जैजैपुर सामान्य विधानसभा सीट पर बसपा की दमदार मौजूदगी चुनावी समीकरण को सीधे तौर पर प्रभावित करती रही है। वर्तमान में यहां से बसपा के केशव चंद्रा विधायक चुने गए हैं। वहीं पामगढ़ सामान्य विधानसभा सीट पर भाजपा, कांग्रेस और बसपा के विधायक बारी-बारी से चुनकर विधानसभा में पहुंचते रहे हैं। वर्तमान में यहां से भाजपा के अंबरेश जांगड़े विधायक चुने गए हैं।

रायपुर: साल 2003 के परिसीमन में मालखरोदा विधानसभा सीट के विलोपन के बाद अस्तित्व में आई मालखरोदा विधानसभा सीट पर 2003 के विधान सभा चुनाव में बसपा के लालसाय खूंटे विधायक चुने गए थे। जिन्होंने सीधे मुकाबले में भाजपा के निर्मल सिन्हा को हराया था। बाद में 2007 में हुए विधानसभा उपचुनाव में भाजपा इस सीट को बसपा छीन ली और यहां से भाजपा के निर्मल सिन्हा विधायक चुने गए। कांग्रेस के मोहन मानी दूसरे स्थान पर रहे।

परिसीमन के बाद मालखरोदा का बड़ा हिस्सा जैजैपुर विधानसभा क्षेत्र में शामिल हुआ। साल 2008 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने यहां जीत का खाता खोला। कांग्रेस ने इस सीट पर महंत रामसुंदर दास को अपना उम्मीदवार बनाया था। जिन्होंने सीधे मुकाबले में बसपा के केशवचंद्रा को 9436 मतों से हराया। भाजपा तीसरे स्थान पर रही। इस चुनाव में कांग्रेस के महंत रामसुंदर दास को 43346 मत मिले वहीं बसपा के केशव चंद्रा को 33907 मतों से संतोष करना पड़ा।

साल 2013 के विधानसभा चुनाव में इस सीट में बसपा ने कांग्रेस को हरा कर अपनी पुरानी हार का बदला चुकता कर लिया। इस चुनाव में बसपा ने अपने पुराने चेहरे केशव चंद्रा को दोबारा मैदान में उतारा था। वहीं बीजेपी ने अपना उम्मीदवार बदलते हुए कैलाश साहू को मैदान में उतारा था। इस चुनाव में बसपा के केशव चंद्रा ने सीधे मुकाबले में भाजपा के कैलाश साहू को 2579 मतों से हराया। कांग्रेस को तीसरे स्थान पर संतोष करना पड़ा। बसपा के केशव चंद्रा को 47188 मत मिले वहीं भाजपा के कैलाश साहू को 44609 मतों से संतोष करना पड़ा।

आने वाले चुनाव में इस बार बसपा की ओर से सीटिंग विधायक केशव चंद्रा को दोबारा मैदान में उतारने की तैयारी है। इस बार जोगी कांग्रेस और बसपा गठबंधन के बाद जिन सीटों पर बसपा की मजबूती से चुनाव लड़ने की तैयारी है उनमें जैजैपुर विधानसभा सीट भी शामिल है। वहीं भाजपा और कांग्रेस को दमदार प्रत्याशी की तलाश है। आने वाले चुनाव में जैजैपुर विधानसभा सीट पर त्रिकोणीय मुकाबले के आसार है। इस बार बसपा के सामने अपना गढ़ बचाने की चुनौती होगी तो कांग्रेस और बीजेपी इस सीट पर जीत के सपने देख रही है।

पामगढ़ में भाजपा को गढ़ बचाने की चुनौती, बसपा और कांग्रेस लगाएगी जोर

छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद पामगढ़ विधानसभा सीट पर बारी-बारी से कांग्रेस, बसपा और भाजपा के विधायक जीत कर विधानसभा में पहुंचते रहे हैं।

साल 2003 के विधानसभा चुनाव में यहां से कांग्रेस के महंत रामसुंदर दास ने जीत हासिल की थी। जिन्होंने त्रिकोणीय मुकाबले में बसपा के दाऊराम रत्नाकर को 6734 मतों से हराया। भाजपा तीसरे स्थान पर रही। इस चुनाव में कांग्रेस के महंत राम सुंदर दास को 42780 मत मिले वहीं बसपा के दाऊराम रत्नाकर को 36046 मतों से संतोष करना पड़ा।

साल 2008 के विधानसभा चुनाव में बसपा ने जीत हासिल की। इस बार बसपा ने अपना उम्मीदवार बदलते हुए दूजराम बौद्ध को अपना उम्मीदवार बनाया था। जिन्होंने त्रिकोणीय मुकाबले में भाजपा के अंबरेश जांगड़े को 5955 मतों से हराया। इस चुनाव में बसपा के दूजराम बौद्ध को 39534 मत मिले वहीं भाजपा के अंबरेश जांगड़े को 33579 मतों से संतोष करना पड़ा। कांग्रेस को तीसरे स्थान पर रही।

साल 2013 में मतदाताओं ने एक बार फिर बदलाव पर मुहर लगाते हुए भाजपा को जीत दिला दी। इस चुनाव में भाजपा के अंबरेश जांगड़े जीत हासिल करने में कामयाब रहे। भाजपा के अंबरेश जांगड़े ने त्रिकोणीय मुकाबले में बसपा के दूजराम बौद्ध को 8125 मतों से हराया। भाजपा के अंबरेश जांगड़े को 45342 मत मिले वहीं बसपा के दूजराम बौद्ध को 37217 मतों से संतोष करना पड़ा। कांग्रेस तीसरे स्थान पर रही।

आने वाले चुनाव में भाजपा के सामने अपनी सीट बचाने की चुनौती होगी वहीं कांग्रेस आरपार की लड़ाई की तैयारी में है। इस चुनाव में बसपा-जोगी कांग्रेस गठबंधन भी दमदारी के साथ मैदान में उतरने को तैयार है। आने वाले चुनाव में पामगढ़ किसका गढ़ साबित होगा इसका फैसला मतदात करेंगे। फिलहाल त्रिकोणीय मुकाबले के आसार हैं।

Summary
Review Date
Reviewed Item
जैजैपुर और पामगढ़ में कड़ा मुकाबला
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags