गीता रामायण पढ़ने पर कट्टरपंथियों ने मुस्लिम युवक की कर दी पिटाई

धर्मग्रंथ छीना और हारमोनियम भी तोड़ा, अलीगढ़ की घटना

अलीगढ़: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के महफूज़ नगर में कुछ मुस्लिम कट्टरपंथियों ने एक मुस्लिम युवक की गीता रामायण पढ़ने पर पिटाई कर दी। कट्टरपंथी यहीं नहीं रुके और उसका धर्मग्रन्थ छीना और हारमोनियम भी तोड़ दिया। युवक की शिकायत पर केस दर्ज़ कर लिया गया है।

दिलशेर नहाने के बाद रोजाना रामायण पढ़ना नहीं भूलते। कई चौपाइयां उन्हें याद हैं। वह गीता भी पढ़ते हैं। उन्होंने कहा, 1979 से रामायण का पाठ कर रहे हैं,इससे उनके मन को सुकून मिलता है। इस संबंध में थाने के इंस्पेक्टर इंद्रेश पाल सिंह ने बताया,’पीड़ित की शिकायत के आधार पर पड़ोसी की धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने और उनके साथ मारपीट करने के लिए समीर व ज़ाकिर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। एक आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है। उसने पड़ोसी से झगड़े की बात स्वीकार की है। लेकिन बाकी आरोपों को बेबुनियाद बताया है।

पीड़ित ने मामले पर लिखित शिकायत में कहा कि वह हर रोज़ अपने घर पर गीता और रामायण पढ़ता है। यह बात पड़ोसी समीर व ज़ाकिर को हज़म नहीं हुई और उन्होंने अपने साथियों के साथ घर में घुस कर हमला कर दिया। साथ ही धार्मिक ग्रंथ भी फाड़ने की कोशिश की। किसी प्रकार पीड़ित ने अपने परिवार की जान बचाई। इतना ही नहीं हमलावरों ने जाते-जाते आगे से गीता-रामायण न पढ़ने की चेतावनी दी साथ ही जान से मारने की भी धमकी दी है।

Back to top button