हरदिहा साहू समाज का सामूहिक आदर्श विवाह समारोह में ही शादी करने का फैसला अनुकरणीय : डॉ. रमन सिंह

रायपुर: मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ हरदिहा साहू समाज द्वारा अपने परिवारों में भविष्य में सामूहिक आदर्श विवाह में ही शादी करने का संकल्प लेकर दूसरे समाजों के सामने एक आदर्श प्रस्तुत किया है। अन्य समाजों के लिए हरदिहा साहू समाज का यह अनुकरणीय निर्णय है।

दूसरे समाजों को भी इस समाज से यह सीख लेनी चाहिए। मुख्यमंत्री आज यहां रायपुरा स्थित महादेव घाट पर छत्तीसगढ़ हरदिहा साहू समाज द्वारा आयोजित सामूहिक आदर्श विवाह समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस समारोह में गायत्री मंत्र के बीच एक सौ जोड़े विवाह के पवित्र बंधन में बंधे। मुख्यमंत्री से सभी वर-वधुओं को आशीर्वाद प्रदान करते हुए कहा कि इस फैसले के लिए समाज के बुजुर्ग बधाई के पात्र हैं। उन्होंने इस अवसर पर छत्तीसगढ़ हरदिहा साहू समाज के सामाजिक भवन के निर्माण के लिए 20 लाख रुपए की मंजूरी की घोषणा की।

 मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि सभी समाज आदर्श विवाह, दहेज प्रथा से मुक्त होने और विवाह समारोहों में फिजूल खर्ची पर पाबंदी लगाने की बात करते हैं, लेकिन हरदिहा साहू समाज ने इन आदर्शों को धरातल पर क्रियान्वित करके दिखाया है। यह समाज कुरीतियों को छोड़कर विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। मां कर्मा के आशीर्वाद से यह संभव हो सका है। इसके लिए यह समाज बधाई का पात्र है। डॉ. सिंह ने कहा कि राज्य शासन ने भी अपनी अनेक योजनाएं विभिन्न समाजों को देख कर बनायी है।

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना ऐसी ही एक योजना है। जो साहू समाज से प्रेरणा लेकर बनायी गयी है। यह खुशी की बात है कि इस योजना में अब तक 70 हजार बेटियों के हाथ पीले हो चुके हैं। नगर निगम के महापौर श्री प्रमोद दुबे ने कहा कि छत्तीसगढ़ हरदिहा साहू समाज द्वारा अपने परिवार में सामूहिक आदर्श विवाह समारोह में ही शादी करने का फैसला वास्तव में एक आंदोलन की शुरुआत है। उन्होंने इसके लिए समाज को बधाई और शुभकामनाएं दीं।

उन्होंने कहा कि समाज के युवाओं को व्यसनों से दूर रह कर अपने संस्कारों और संस्कृति की रक्षा करने का प्रयास करना चाहिए। पूर्व विधायक और कार्यक्रम के संयोजक श्री नंदकुमार साहू ने स्वागत भाषण दिया। छत्तीसगढ़ हरदिहा साहू समाज के प्रदेशाध्यक्ष श्री विपिन साहू ने इस अवसर पर कहा कि साहू समाज के श्री जीवन लाल साहू द्वारा आपातकाल के समय सन् 1975 में महासमंुद के मुनगेसर से आदर्श विवाह समारोह की शुरुआत की गयी थी। आज उनकी यह पहल आंदोलन का स्वरुप ले रही है।

इस अवसर पर छत्तीसगढ़ नागरिक आपूर्ति निगम की अध्यक्ष सुश्री लता उसेंडी, साहू समाज के राष्ट्रीय महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष श्रीमती ममता साहू, समाज के महामंत्री श्री प्रेमलाल साहू, संरक्षक श्री देवराखन साहू, पार्षद श्रीमती यशोदा कमल साहू और संदीप साहू सहित समाज के अनेक पदाधिकारी, वर-वधुओं के परिजन और बड़ी संख्या में समाज के सदस्य उपस्थित थे।

Back to top button