गुजरातराजनीति

हार्दिक पटेल: लाखों ‘हार्दिक’ मेरे साथ, मैं लोगों का एजेंट हूं

 

हार्दिक पटेल: लाखों ‘हार्दिक’ मेरे साथ, मैं लोगों का एजेंट हूं

गुजरात : हार्दिक पटेल की उम्र अभी इतनी नहीं हुई है कि वे भारतीय संविधान के मुताबिक चुनाव मैदान में उतर सकें, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने अपना इतना कद जरूर बढ़ा लिया है कि गुजरात विधानसभा चुनाव का जिक्र होते ही उनका नाम सबकी जुबान पर खुद-ब-खुद आ जाता है.

पाटीदार अनामत आंदोलन समित (PASS) के संयोजक हार्दिक पटेल कुछ भी बोलते हैं, कुछ भी करते हैं वो सुर्खियां बन जाता है. हार्दिक पटेल के साथ खास बातचीत में उन मुद्दों पर अपना पक्ष साफ किया, जो लोग उनके मुंह से सुनना चाहते हैं.

हार्दिक ने कहा, ‘पाटीदार आंदोलन कोई राजनीतिक मुद्दा नहीं बल्कि हमारे हक की लड़ाई है. ये आंदोलन अन्याय के खिलाफ लड़ाई है. हम लोगों के सवाल, मुद्दे उठा रहे हैं इसलिए वे हमारे साथ हैं.’

हार्दिक ने बीजेपी की ओर से उन्हें ‘कांग्रेस की B-टीम’ या ‘कांग्रेस का एजेंट’ बताए जाने पर कहा, ‘उन्हें बताना चाहिए कि कांग्रेस का एजेंट कौन है? मैं या पूरा पाटीदार समुदाय? बीजेपी किसी भी मुद्दे पर राज्य में साफ नहीं बोल रही है. मैं देश में कई शीर्ष राजनेताओं से मिल चुका हूं. मैं खुले तौर पर नीतीश कुमार, ममता बनर्जी, उद्धव ठाकरे से मिला, हर कोई ये जानता है. मैं राहुल गांधी से भी शीघ्र मिलूंगा.’

बीजेपी आरोप लगा रही है कि जब हार्दिक होटल में कांग्रेस नेताओं से मिलने गए थे तो उनके पास एक बैग था. इस पर हार्दिक ने कहा, ‘उस सीसीटीवी फुटेज में ये भी देखा होगा कि मैंने कपड़े बदले थे. मैं जब अंदर गया था तो मैंने हॉफ शर्ट पहनी थी और जब बाहर आया तो फुल शर्ट में था. जाहिर है उस बैग में मेरे कपड़े थे.’

हार्दिक ने पाटीदार नेता नरेंद्र पटेल के बीजेपी पर उस आरोप पर भी मुंह खोला कि नरेंद्र पटेल को बीजेपी में शामिल होने के लिए एक करोड़ रुपए की रिश्वत की पेशकश की गई थी. बता दें कि अन्य पाटीदार युवा नेता वरूण पटेल और रेशमा पटेल के साथ नरेंद्र पटेल ने भी बीजेपी में शामिल होने का एलान किया था

लेकिन कुछ ही घंटों बाद उन्होंने बीजेपी पर पैसे के दम पर पाटीदार नेताओं को तोड़ने का आरोप लगाया. साथ ही नरेंद्र ने कहा कि उन्होंने बीजेपी को बेनकाब करने के लिए पार्टी में शामिल होने का नाटक किया था. हार्दिक ने इस मुद्दे पर कहा, ‘बीजेपी ने नरेंद्र पटेल को खरीदने की कोशिश की लेकिन नाकाम रही, कुछ और के मामले में उसे कामयाबी मिली. लेकिन आगे से अब ऐसा नहीं होगा.’

ओपिनियन पोल्स बता रहे हैं कि बीजेपी के पास गुजरात में सरकार बनाने के लिए खासी बढ़त है, लेकिन अगर हार्दिक खुले तौर पर कांग्रेस के साथ हाथ मिलाते हैं तो बीजेपी के हाथ से कुछ सीटें खिसक सकती हैं. ओपिनियन पोल्स पर हार्दिक ने कहा, ‘वे हमेशा गलत साबित होते हैं. ये भीड़ ही मेरी ताकत है और मैं उनके लिए ल़ड़ता रहूंगा क्योंकि मैं उनका एजेंट हूं.’

Summary
Review Date
Reviewed Item
हार्दिक पटेल
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.