हरिवंशराय से कहा था महादेवी वर्मा ने-अमिताभ राजनीति में नहीं ठहरेगा?

नई दिल्ली: बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन का आज जन्मदिन है. अमिताभ बच्चन 75 साल के हो गए. उनका जन्म 11 अक्टूबर 1942 को इलाहाबाद में विजयादशमी के दिन हुआ था. फिल्मों में अच्छा खासा नाम कमाने के बाद 1984 में अमिताभ अपने दोस्त राजीव गांधी के लिए सियासी मैदान में कूद पड़े थे. इलाहाबाद सीट से कांग्रेस के टिकट पर उन्होंने चुनाव लड़ा. चुनावी मैदान में उनके सामने दिग्गज नेता हेमवती नंदन बहुगुणा थे. इन्हें बिग बी ने लगभग दो लाख वोटों से हराया था. यह उनकी लोकप्रियता ही थी कि हेमवती नंदन बहुगुणा जैसे नेता को इतने अधिक वोटों के अंतर से अमिताभ ने शिकस्त दी थी. उस समय बहुगुणा को इलाहाबाद से हराना लगभग असंभव माना जाता था.

चुनाव प्रचार के दौरान उनके पिता हरिवंशराय बच्चन ने भी अमिताभ की काफी मदद की. उस समय के एक वाकिये का जिक्र करते हुए इलाहाबाद के कवि यश मालवीय बताते हैं, “1984 चुनाव में हरिवंशराय बच्चन अमिताभ को आशीर्वाद दिलाने महादेवी वर्मा के घर गए थे. महादेवी वर्मा ने कहा – आप एक कलाकार को राजनेता क्यों बना रहे हैं?

इसके अंदर का कलाकार मत मरने दीजिये, इसे कलाकार ही रहने दीजिये. तब हरिवंश ने कहा कि अभी गांधी परिवार मुसीबत में है, हमें इलाहाबाद से अमिताभ को चुनाव लड़ाना है, आप आशीर्वाद दीजिये.

महादेवी ने कहा – आशीर्वाद तो है ही पर ये बच्चा अधिक दिन राजनीति में नहीं ठहरेगा. आखिर हुआ भी वही. बहुत जल्द अमिताभ ने राजनीति से खुद को किनारे कर लिया. बोफोर्स कांड हो जाने से उनका राजनीति के प्रति रुख कड़वा हो गया. लोगों ने जिस उम्मीद से अमिताभ को लोकसभा में पहुंचाया, वे उस पर खरे नहीं उतरे.

बाद में एक फिल्मी पत्रिका से बातचीत के दौरान अमिताभ बच्चन ने बाद में कहा था, ” मुझे राजनीति नहीं आती. मुझे कभी राजनीति मे नहीं जाना चाहिए था. अब मैंने सबक सीख लिया है. अब आगे और राजनीति नहीं.”

1
Back to top button