हर्ष मंदर ने एनएचआरसी पर्यवेक्षक पद से दिया इस्तीफा

उन्होंने कहा, “इसलिए मैंने इस दायित्व से इस्तीफा देने के लिए अपनी अंतरात्मा की आवाज सुनी।

राष्ट्रीय : सामाजिक कार्यकर्ता हर्ष मंदर ने राष्ट्रीय मानवधिकार आयोग(एनएचआरसी) के विशेष पर्यवेक्षक के पद से इस्तीफा दे दिया और कहा कि ‘उनके पास निभाने के लिए कोई भी रचनात्मक भूमिका’ नहीं है। सोमवार को मीडिया को जारी अपने त्यागपत्र में मंदर ने शिकायत की है .

कि उन्हें यह बताया गया था कि एनएचआरसी अल्पसंख्यकों के अधिकार और संप्रादायिक हिंसा से संबंधित मामलों को देखने के लिए समय-समय पर उनकी सेवाएं लेगा, लेकिन आयोग ने इन मुद्दों पर एक बार भी उनसे संपर्क नहीं किया।

उन्होंने अपने इस्तीफे में लिखा, “अल्पसंख्यकों और संप्रदायिक हिंसा से संबंधित किसी भी मानवधिकार अभियान या जांच के लिए मुझसे संपर्क करने के मुद्दे पर एनएचआरसी की लगातार चुप्पी के कारण, यह प्रतीत होता है कि एनएचआरसी के विशेष पर्यवेक्षक के तौर पर मेरी कोई सकारात्मक भूमिका नहीं है।”

उन्होंने कहा, “इसलिए मैंने इस दायित्व से इस्तीफा देने के लिए अपनी अंतरात्मा की आवाज सुनी।

Back to top button