राइस मिल से निकलने वाले गर्म पानी से किसानों की फसल बर्बाद

जगदलपुर।

नगरनार मार्ग पर स्थित ग्राम पंचायत मारकेल में स्थित राइस मिल के बायलर से निकलने वाले पानी से आसपास के एक दर्जन किसानों की धान की फसल खराब हो गई है। किसानों ने राजस्व विभाग से इसकी शिकायत करते हुए मुआवजा प्रदान करने की मांग की है। मंगलवार को कृषि व राजस्व विभाग के अधिकारियों ने मौके का मुआयना किया है।

प्रभावित किसानों ने सीताराम सेठिया, शेरसिंह सेठिया, शोभसन, बलिराम आदि ने बताया कि मिल संचालक द्वारा बायलर में धान उबालने के बाद गर्म पानी को उनकी खेतों में बहा दिया जाता है। गर्म पानी से धान के पौधे झुलस गए और फसल प्रभावित हुई है। उन्होंने बताया कि पिछले चार-पांच सालों से यह सिलसिला जारी है।

शिकायत के बाद भी मिल मालिक कोई ध्यान नहीं दे रहा है। मिल मालिक के चलते हर साल किसानों को नुकसान उठाना पड़ता है। किसानों ने इसकी शिकायत तहसीलदार से की है। साथ ही मुआवजे की मांग भी की है।

शिकायत के बाद मंगलवार को कृषि विभाग और राजस्व विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंच कर धान फसल की नुकसान का आंकलन कर तहसीलदार को प्रतिवेदन भेजा है। तहसीलदार द्वारा अग्रिम कार्रवाई किए जाने की बात कही गई है।

बता दें कि राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे मारकेल में स्थित बाबा राइस मिल से निकलने वाली जली हुई धान की भूसी सड़क पर आवाजाही करने वाले लोगों के लिए परेशानी का सबब बना रहता है।

उसना चावल बनाने के लिए धान की भूसी को जलाकर उबालते है। जली हुई भूसी सडक के किनारे फेंक दिया गया है। हवा में उड़कर यह भूसी राहगीरों की ऑखों में चला जाता है जिससे हादसे की भी आशंका रहती है।

1
Back to top button