HC की फटकार पंजाब के संस्कृति विभाग को अश्लील गानों से जुड़ी याचिका पर

पंजाब में अश्लील और भद्दे गानों पर प्रतिबंध लगाए जाने को लेकर दायर की गई एक याचिका की सुनवाई करते हुए बुधवार को पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट नें पंजाब के संस्कृत विभाग के प्रिंसिपल सचिव को जम कर फटकार लगाई है.

मामले की सुनवाई कर रही बेंच ने आठ महीने पहले पंजाब के संस्कृति विभाग के प्रिंसिपल सचिव को नोटिस जारी करते हुए जवाब मांगा था लेकिन सचिव आठ महीने तक कोर्ट में अपना जवाब दाखिल नहीं कर पाए. इसके लिए उनको कोर्ट से फटकार मिली.

कोर्ट ने इस मामले में केंद्र सरकार को भी नोटिस जारी किया था.

कोर्ट ने अश्लील और गंदे के अलावा दोहरे मतलब के गानों पर गंभीर चिंता जताते हुए कहा है कि सोशल मीडिया सहित कई माध्यमों में अब इन गीतों की बाढ़ आ गई है जो एक गंभीर विषय है. कोर्ट ने राज्य और केंद्र सरकारों को नोटिस जारी करके पूछा है कि इन गीतों पर किस तरह रोक लगाई जा सकती है.

पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने सरकारों से यह भी पूछा है की क्या सिनेमॅटोग्राफी एक्ट 1952 में क्या अश्लील गीतों को रोकने का कोई प्रावधान किया गया है या नहीं. इस मामले की अगली सुनवाई 18 दिसंबर 2017 को होगी.

advt
Back to top button