हेल्थ : बचना है डिप्रेशन से तो कराये बुजुर्गों के बहरेपन का इलाज

शोधकर्ताओं के अनुसार, अध्ययन में उम्र संबंधी बहरापन और डिप्रेशन के लक्षणों के बीच संबंध पाया गया है।

कोलंबिया।
वैज्ञानिकों का कहना है कि बुजुर्गों में उम्र संबंधी बहरापन का इलाज करने से जीवन के अंतिम दौर में होने वाले डिप्रेशन (अवसाद) से बचाव किया जा सकता है।

बुढ़ापे में ऊंचा सुनने या बहरेपन की समस्या का आमतौर पर इलाज हो सकता है। शोधकर्ताओं के अनुसार, अध्ययन में उम्र संबंधी बहरापन और डिप्रेशन के लक्षणों के बीच संबंध पाया गया है।

बुजुर्गों में उम्र संबंधी बहरापन तीसरी बड़ी समस्या होती है। इसके चलते स्मृति में गिरावट और डिमेंशिया जैसी बीमारियों का भी खतरा हो सकता है।

अमेरिका की कोलंबिया यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर जस्टिन एस गोलब ने कहा, ’70 साल से अधिक उम्र वाले ज्यादातर लोग कुछ हद तक बहरेपन की समस्या का सामना करते हैं।

बहरापन का आसानी से इलाज भी किया जा सकता है। इस समस्या का उपचार करना महत्वपूर्ण है, क्योंकि इससे डिप्रेशन से बचाव में मदद भी मिल सकती है।’

1
Back to top button