छत्तीसगढ़

मिशन इंद्रधनुष का लक्ष्य स्वास्थ्य विभाग ने किया हासिल

मिशन इंद्रधनुष : विषम भौगोलिक परिस्थितियों के बावजूद सुकमा जिले ने लक्ष्य किया हासिल

सुकमा : जिले की विषम भौगोलिक परिस्थितियों के बावजूद मिशन इंद्रधनुष का दिसम्बर माह का लक्ष्य स्वास्थ्य विभाग ने हासिल कर लिया है।

उल्लेखनीय है कि सुकमा जिले के दुर्गम क्षेत्र और विषम भौगोलिक परिस्थितियों के साथ ही इस वर्ष हुई भारी बारिश के कारण कई बच्चे और गर्भवती महिलाएं टीकाकरण से वंचित रह गई थीं।

इन बच्चों और गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण के लिए मिशन इंद्रधनुष के तहत दिसम्बर से मार्च तक प्रतिमाह टीकाकरण का अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत दिसम्बर माह में 867 बच्चे और 211 गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया गया।

इस अभियान को पूरा करने के लिए स्वास्थ्य विभाग का अमला नदी-नाले पारकर और कई किलोमीटर तक पैदल चलकर गांव-गांव में दस्तक दी। दुर्गम मार्गों में पैदल चलकर गांवों में पहुंचने के बाद विरल आबादी की समस्या का सामना भी इन अमलों को करना पड़ा और कई बार इन्हें खेत-खलिहानों में पहुंचकर बच्चों और गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण करना पड़ा।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा मिली जानकारी के अनुसार इस बार कई ऐसे गांवों में टीकाकरण का कार्य किया गया, जहां पहले कभी टीकाकरण नहीं किया गया था। स्वास्थ्य विभाग द्वारा दूरदराज के इन गांवों में लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण भी किया गया और दवाईयां भी दी गई।

कलेक्टर श्री चंदन कुमार ने इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों और मैदानी कर्मचारियों को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि इस अभियान के लक्ष्य को बिना दृढ़ इच्छाशक्ति के प्राप्त करना संभव नहीं था। उन्होंने इसके लिए महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों के सहयोग की भी सराहना की।

Tags
Back to top button