हमर सुघ्घर अस्पताल अभियान से स्वास्थ्य अधोसंरचनाओं को मिलेगी मजबूती

जिले में शासकीय अस्पतालों के उन्नयन के लिए किए जा रहे प्रभावी कार्य

चिकित्सा संरचना की बदलेगी तस्वीर, स्वास्थ्य सुविधाओं का होगा विस्तार

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अम्बागढ़ चौकी और डोंगरगांव में नवीन अस्पताल भवन निर्माण कार्य पूर्णता की ओर

तीन माह में अभियान चलाकर जिले के 150 उप स्वास्थ्य केन्द्रों और 25 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों का उन्नयन करने के लिए किया जाएगा कार्य

राजनांदगांव 09 अगस्त 2021: मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देश पर जिले में स्वास्थ्य अधोसंरचना को मजबूती प्रदान करने की दिशा में प्रभावी कार्य किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री के कोविड-19 की तीसरी लहर की संभावना को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य सुविधाओं में बढ़ोत्तरी के निर्देश के बाद जिले में समस्त शासकीय हॉस्पिटल का उन्नयन किया जा रहा है। इसी कड़ी में कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा ने हमर सुघ्घर अस्पताल अभियान चलाकर स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार एवं संवर्धन के कार्य को गति प्रदान की है। इस अभियान के तहत जमीनी स्तर पर जनसामान्य को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए तेजी से कार्य किया जा रहा है। दूरदराज क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं को स्थायी एवं सशक्त बनाने के लिए निरंतर कार्य जारी है।

जिले के समस्त शासकीय अस्पतालों का जीर्णोद्धार तथा स्वास्थ्य व्यवस्था को सुधारने के लिए आगामी 3 माह तक हमर सुघ्घर अस्पताल अभियान चलाया जाएगा। हमर सुघ्घर अस्पताल अभियान के प्रथम चरण में जिले के 150 उप स्वास्थ्य केन्द्रों और 25 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों का उन्नयन करने का निर्णय लिया गया है। जिससे इन क्षेत्रों में चिकित्सा संरचना की तस्वीर बदलेगी।
हमर सुघ्घर अस्पताल अभियान का सुखद परिणाम यह है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अंबागढ़ चौकी और डोंगरगांव में नवीन अस्पताल भवन निर्माण कार्य पूर्णता की स्थिति में है। गौरतलब है कि दोनों ही सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में ऑक्सीजन पाईप लाईन लगाने का कार्य पूर्ण कर लिया गया है।

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अम्बागढ़ चौकी के नवीन भवन में 30 बिस्तर और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र डोंगरगांव में 40 बिस्तर हेतु आक्सीजन पाईप लाईन लगाने का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र डोंगरगांव में ऑक्सीजन की बेहतर उपलब्धता हेतु ऑक्सीजन का 250 एलपीएम का पीएसए प्लांट भी लगाया जायेगा, जिसके लिये शेड बनाने और शेड तक पाईप लाईन लगाने का कार्य भी पूर्ण कर लिया गया है। जिले में कोविड-19 तीसरी लहर की संभावना को देखते हुये आपातकालीन परिस्थिति को ध्यान में रखकर सावधानी बरतते हुये जिले के सभी प्रमुख अस्पतालों में ऑक्सीजन पाईप लाईन लगाने का कार्य प्रगति पर है।

अब तक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मानपुर के 20 बिस्तर, सोमनी में 50 बिस्तर, सिविल अस्पताल खैरागढ़ में 30 बिस्तर, गंडई मे 30 बिस्तर पर आक्सीजन पाईप लाईन लगाने का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। शीघ्र ही मातृ एवं शिशु अस्पताल भवन बसंतपुर में 70 बिस्तर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, मोहला मे 30 बिस्तर, छुरिया में 30 बिस्तर, छुईखदान में 30 बिस्तर, मानपुर में अतिरिक्त 20 बिस्तर पर आक्सीजन पाईप लाईन लगाया जाना है। इसके साथ ही शासकीय मेडिकल कॉलेज हॉस्पीटल पेन्ड्री में 1000-1000 एलपीएम के दो ऑक्सीजन पीएसए प्लांट, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सोमनी और मानपुर में 250 एलपीएम के ऑक्सीजन प्लांट तथा जिला अस्पताल बसंतपुर के मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य अस्पताल मे 1000 एलपीएम का एक ऑक्सीजन प्लांट लगाया जाना है।

विगत दिनों में शासकीय मेडिकल कॉलेज पेन्ड्री में पहले ही एक आक्सीजन पीएसए प्लांट और लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किया जा चुका है। सभी कार्य आगामी 2 माह के भीतर पूर्ण कर लिये जाने का लक्ष्य रखा गया है। जिले के अस्पतालों के संवर्धन के कड़ी में जिले के शासकीय मेडिकल कॉलेज पेन्ड्री में 100 बिस्तर आईसोलेशन वार्ड, जिले सभी विकासखंडों के मुख्यालय के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी 10-10 बिस्तर आईसोलेशन वार्ड बनाया जाएगा। साथ ही विकासखंड मुख्यालय के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी 30-30 क्षमता के लिये इन्फ्लूऐंट ट्रीटमेंट प्लांट भी लगाया जाना स्वीकृत किया जा चुका है। इसके साथ ही शासकीय मेडिकल कॉलेज अस्पताल पेन्ड्री एवं कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी परिसर में एक-एक ट्रांजिट हॉस्टल भी बनाने की स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है।

जिले में शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र लखोली एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र वासड़ी, मनगटा, गोटाटोला में नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन का निर्माण भी किया जाएगा। इसके अतिरिक्त जिले में भवन विहिन उप स्वास्थ्य केन्द्रों में नवीन भवन एवं विभिन्न चिन्हांकित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में आवास भवन बनाया जा रहा है। कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी परिसर में एक ट्रूनॉट लैब भवन भी बनाया जाना स्वीकृत किया गया है। जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं में विस्तार को ध्यान में रखकर जिले के समस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में उच्च स्तर के पैथोलॉजी जांच की सुविधा हेतु हमर लैब तथा आपातकालीन परिस्थितियों में खून की आवश्यकता को देखते हुये चिन्हांकित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में ब्लड बैंक की स्थापना भी की जायेगी। इसके प्रथम चरण में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मानपुर ब्लड बैंक और हमर लैब की स्थापना की जा जा रही है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button