राष्ट्रीय

कोरोना महामारी के बीच भी नहीं चरमराया हेल्थ सिस्टम, जारी रहीं योजनाएं : CM

CM केजरीवाल ने कहा कि कई विकसित देश और न्यूयॉर्क जैसे शहर में स्वास्थ्य व्यवस्था बिल्कुल चरमरा गई थी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने सोमवार को कहा कि कोरोना महामारी के दौरान दिल्ली ने बेहद गंभीर स्थिति का सामना किया, लेकिन हाल के सालों में किए गए ‘सुधार’ और बेहतर प्रबंधन की वजह से यहां स्वास्थ्य प्रणाली (Health System) ध्वस्त नहीं हुई. CM केजरीवाल ने कहा कि कई विकसित देश और न्यूयॉर्क जैसे शहर में स्वास्थ्य व्यवस्था बिल्कुल चरमरा गई थी, लेकिन घर में आइसोलेशन जैसे कदमों की वजह से दिल्ली में ऐसी स्थिति नहीं बनी.

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने गणतंत्र दिवस (Republic Day) को लेकर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि 3.12 लाख से ज्यादा मरीज घर में क्वारंटीन में स्वस्थ हुए और यह व्यवस्था सबसे पहले दिल्ली में शुरू हुई और यहीं दुनिया का पहला प्लाज्मा बैंक (Plasma Bank) भी स्थापित हुआ. अब तक 4,929 लोग प्लाज्मा थेरेपी (Plasma Therapy) की वजह से स्वस्थ हो चुके हैं.
“महामारी के बीच जारी रहीं कल्याणकारी योजनाएं”

मुख्यमंत्री ने कहा कि महामारी की वजह से आयकर राजस्व (Income Tax Revenue) में कमी आने के बाद भी सरकार अपने कर्मचारियों को वेतन देने और मुफ्त बिजली आपूर्ति समेत अन्य कल्याणकारी योजनाओं को बरकरार रखने में सफल रही. उन्होंने दिल्ली सरकार के एक कार्यक्रम में कहा कि अंतिम भुगतान चक्र (Last Payment Cycle) में 38 लाख घरों का बिजली शुल्क जीरो आया है जबकि 14 लाख घरेलू उपभोक्ताओं का पानी का बिल जीरो आया है.

सरकार जारी करेगी हेल्थ कार्ड

कार्यक्रम में उन्होंने राष्ट्र ध्वज तिरंगा भी फहराया. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि मार्च तक दिल्ली सरकार घर-घर राशन पहुंचाने का काम करेगी, जो राशन वितरण प्रणाली (Ration Distribution System) में ‘क्रांतिकारी’ कदम होगा. उन्होंने कहा कि सरकार हेल्थ कार्ड जारी करने जा रही है जिसके तहत एक व्यक्ति के स्वास्थ्य से जुड़े सभी रिकॉर्ड दर्ज किए जाएंगे.

उन्होंने आगे कहा कि सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों को स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन प्रणाली (HIMS) से जोड़ा जाएगा और लोग अस्पतालों में कतार में लगने के बजाए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन लेने में सक्षम होंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि यमुना नदी (Yamuna) को साफ करने से संबंधित परियोजना का कार्य भी समय अनुसार चल रहा है और आने वाले सालों में झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले लोगों को फ्लैट में रहने को भेजा जाएगा.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button