साल 1984 में सिख दंगा मामले में सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई

नई दिल्लीः साल 1984 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की दो सिख अंगरक्षकों द्वारा हत्या किए जाने पर दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में हिंसा भड़कने और सिखों को निशाने के मामले में आज शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में फैसला होगा. इस मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ में होगी.

साल 2017 में सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में एसआईटी जांच की मांग करने वाली एक याचिका पर उत्तर प्रदेश सरकार को नोटिस जारी किया था.इसके बाद हाल ही में यूपी सरकार ने सिख दंगों की जांच कराने का आदेश देते हुए SIT का गठन किया था.आपको बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद कानपुर में 127 सिखों का कत्लेआम कर दिया गया था.

दिल्ली सिख दंगों को लेकर सज्जन कुमार को दोषी ठहराते हुए पिछले साल 17 दिसंबर को सुनाए गए फैसले में दिल्ली हाईकोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई थी.मामले में सज्जन कुमार को दक्षिण पश्चिम दिल्ली में 1-2 नवंबर 1984 को दिल्ली छावनी के राजनगर पार्ट-1 में पांच सिखों के मारे जाने व गुरुद्वारा जलाए जाने के मामले में दोषी ठहराया गया था.इस ममाले में सज्जन के अलावा कुछ अन्य दोषियों को भी सजा सुनाई गई थी, जिसमें एक दोषी यशपाल को फांसी और दूसरे दोषी नरेश सेहरावत को उम्र कैद की सजा सुनाई गई थी.

Back to top button