केंद्र और चुनाव आयोग के खिलाफ अवमानना मामले में आज होगी सुनवाई

उच्चतम न्यायालय ने याचिका पर सुनवाई की तारीख 14 मार्च निर्धारित की

>नई दिल्ली: शीर्ष न्यायालय के 25 सितंबर 2018 के फैसले के कथित उल्लंघन को लेकर केंद्र और चुनाव आयोग के खिलाफ अवमानना कार्यवाही शुरू करने का अनुरोध किया गया। उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को उस याचिका पर सुनवाई की तारीख 14 मार्च निर्धारित की है। जिसके तहत इस मामले की सुनवाई आज गुरुवार को होगी।

पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने पिछले साल सितंबर में सर्वसम्मति से कहा था कि सभी उम्मीदवारों को चुनाव लड़ने से पहले चुनाव आयोग के समक्ष अपनी आपराधिक पृष्ठभूमि की घोषणा करनी होगी। साथ ही, शीर्ष न्यायालय ने उम्मीदवारों की पृष्ठभूमि के बारे में प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया के जरिए व्यापक रूप से प्रचार करने को कहा था।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने अधिवक्ता अश्विनी कुमार उपाध्याय द्वारा दायर अवमानना याचिका सुनवाई के लिए एक उपयुक्त पीठ के समक्ष 14 मार्च की तारीख को सूचीबद्ध कर दी। पीठ के सदस्यों में न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना भी शामिल थे। पीठ ने निर्देश दिया कि याचिका की एक प्रति चुनाव आयोग के सचिव को भेजी जाए, ताकि उपयुक्त पीठ के समक्ष अगली सुनवाई के दौरान उसका (आयोग का) प्रतिनिधित्व सुनिश्चित हो सके।

चुनाव आयोग ने पिछले साल 10 अक्टूबर को संशोधित फार्म – 26 और आपराधिक पृष्ठभूमि के प्रकाशन के लिए राजनीतिक दलों तथा उम्मीदवारों को निदेर्शों के बारे में अधिसूचना जारी की थी। हालांकि, उपाध्याय की याचिका में आरोप लगाया गया है कि चुनाव आयोग ने ना तो चुनाव चिह्न आदेश 1968 और ना ही चुनाव आचार संहिता में संशोधन किया, इस तरह इस अधिसूचना की कोई कानूनी वैधता नहीं है।

Back to top button