पैतृक संपत्ति हड़पने भाई व बहन का नाम छिपाकर बताया अकेला वारिस, जुर्म दर्ज

हर्षवर्धन

बिलासपुर।

सिविल लाइन क्षेत्र के तालापारा निवासी युवक ने पिता की मौत के बाद संपत्ति हड़पने के लिए भाई व बहन का नाम छिपाकर खुद को अकेला वारिस बता दिया।

फिर इसी आधार पर उसने जमीन अपने नाम करा लिया। फर्जीवाड़ा सामने आने पर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर लिया है।सिविल लाइन पुलिस के अनुसार तालापारा निवासी तबस्सुम कुरैशी और उसके पति अब्दुल जाबिर कुरैशी ने शिकायत दर्ज कराई। इसमें बताया गया कि उनके पिता अब्दुल वदुद कुरैशी की भारतीय नगर क्षेत्र में दो डिसमिल जमीन थी।

पिता का निधन 23 जून 2007 को हो गया। इस बीच उसके छोटे भाई अब्दुल शाहिद कुरैशी ने तहसील कार्यालय में आवेदन पेश किया। उसने जालसाजी करते हुए खुद को पिता का एकमात्र वारिस बताया। जबकि उसका भाई अब्दुल जाबिर कुरैशी व बहन आसमा नासिर खान और नूरजहां खान भी है।

उनके नाम को छिपाकर उसने पिता के नाम की जमीन की फौती कटवाकर अकेले अपने नाम करा लिया। बाद में इसकी जानकारी परिवार के अन्य सदस्यों को हुई। तब उन्होंने पटवारी कार्यालय से दस्तावेज निकाले। भाई का फर्जीवाड़ा सामने आने पर थाने में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने जांच के बाद आरोपित अब्दुल शाहिद कुरैशी के खिलाफ धारा 420 के तहत कार्रवाई की है।

प्रशासनिक अधिकारियों पर भी लगाए आरोप

शिकायत में पीड़ित परिवार के सदस्यों ने तहसील कार्यालय में दिए गए आवेदन पत्र का परीक्षण नहीं कराने पर भी सवाल उठाया है। उनका आरोप है कि राजस्व अफसरों की मिलीभगत से आवेदन पत्र का परीक्षण कराए बिना की जमीन आरोपित के नाम कर दी गई। इस मामले में दोषी अफसर व कर्मचारियों को भी आरोपित बनाने की मांग की गई है।

Back to top button