मध्यप्रदेशराज्य

भारी बारिश ने मचाई तबाही, बाढ़ की वजह से आम लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त

मध्य प्रदेश भारी के चलते नर्मदा सहित कई नदियां उफान पर

भोपाल: मध्य प्रदेश भारी के चलते नर्मदा सहित कई नदियां उफान पर हैं. इसके होशंगाबाद और रायसेन जिले के हालत सबसे ज्यादा खराब है. बाढ़ग्रस्त इलाकों से लोगों का रेस्क्यू किया जा सके, इसके लिए सेना की भी मदद ली जा रही है.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ ग्रस्त इलाकों का हवाई दौरा करने वाले थे. लेकिन मौसम खराब होने की वजह से उनको रास्ते से ही वापस लौटना पड़ा है. वहीं, प्रदेश में अब तक 7000 से ज्यादा लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है.

कई जिलों में आई बाढ़ की वजह से आम लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है, लोगों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन अब भी जारी है. राजधानी भोपाल के पिपरिया गांव में फंसे 6 लोगों का आज रेस्क्यू कर लिया गया. साथ ही कोलार थाना क्षेत्र के गांव बंदूरी में फंसे 6 अन्य लोगों को भी सुरक्षित निकाला जा चुका है.

बारिश के चलते रायसेन जिले के तेंदूनी नदी के टापू पर एक युबक 22 घंटे से फंसा हुआ है. युवक का रेस्क्यू करने के लिए एनडीआरएफ की टीमें रवाना हो गई हैं. वहीं, ग्राम पोलाहा के केरवा नदी में फंसे 6 बच्चों सहित 12 लोगों का प्रशासन ने रेस्क्यू कर लिया गया है. ये सभी लोग एक ही परिवार के थे.

आगर-मालवा जिले में बारिश अब भी जारी है. लगातार बारिश के चलते पाठ ग्राम के समीप पुलिया पर पानी लग गया है. जिसके चलते आगर-मालवा-उज्जैन मार्ग को बंद कर दिया गया है. इससे हाइवे पर वाहनों की लंबी कतारे लग गई हैं.

बारिश के चलते नर्मदा नदी उफान पर हैं, जिसके चलते हरदा के कई गांवों में पानी भर गया है. बारिश के चलते हरदा के हालात बेकाबू हो गए हैं. वहीं, प्रशासन की तरफ से सैकड़ों लोगों का रेस्क्यू किया जा रहा है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button