राज्य

भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त, स्कूल कॉलेज हुए बंद

उत्तर गुजरात के कुछ इलाकों में अगले 24 घंटो के दौरान मूसलाधार बारिश की चेतावनी दी गई है. गुजरात में भारी बारिश का दौर जारी है. कई इलाकों में हालात काफी खराब हो गए हैं. लगातार बारिश की वजह से लोगों के घरों में पानी घुस गया है.

कई इलाकों में अगले आदेश तक स्कूल और कॉलेज बंद करने पड़े हैं.इस बीच मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने रविवार को हेलिकॉप्टर से बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया. उन्होंने प्रभावितों को हर संभव मदद देने के निर्देश दिए हैं.

कहां है ज्यादा आफत

सौराष्ट्र के सुरेंद्रनगर, मोरबी, अमरेली, जूनागढ़, भावनगर इसकी चपेट में हैं. बारिश थोड़ी थमती है दोबारा शुरू होती है. बांध ओवरफ्लो होने से क्या गांव क्या नदियां, क्या जंगल, सब जगह हालात खराब हैं.

गिर के शेरों पर बाढ़ का खतरा

बृहद गिर का ज्यादातर इलाक़ा बाढ़ की चपेट में है. अमरेली और जूनागढ़ जिले में बब्बर शेर रहते हैं ऐसे में उन्हें लॉकेट करके बचाने की बात को वन विभाग ने प्राथमिकता दी.

अमरेली जिले के आसपास जहां बब्बर शेरों आशियाना है वहां सर्च ऑपरेशन शुरू हुआ, वहां रहते शेर बारिश और बाढ़ से अपने आपको बचाते पाए गए. वन विभाग ने सात घंटे की मेहनत के बाद 3 बब्बर शेरों को पकड़ा और सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया.

बता दें कि 2015 की गणना के मुताबिक 523 शेर थे जिसमें शेरों के बीच आपसी मुठभेड़,या बुजुर्ग होने या हादसे में शिकार होने के चलते 10 से ज्यादा शेर मारे गए हैं.

ऐसे में सही दिशा में उनका कंजर्वेशन बेहद जरूरी है. इसी बात को ध्यान में रखते बाढ़ के चलते उन्हें सुरक्षित जगहों पर पहुंचाना सबसे बड़ी प्राथमिकता है.

Tags
Back to top button