भोपाल में बनेगा हैवी व्हीकल, औद्योगिक क्षेत्र में प्लांट का भूमिपूजन

स्वीडिश कंपनी वॉल्वो भारतीय ऑटोमोबाइल कंपनी आयशर के साथ ज्वाइंट वेंचर में भोपाल में 40 हजार हैवी व्हीकल (ट्रक और बस) बनाएगी। कंपनी ने पिछले दिनों भोपाल के नजदीक औद्योगिक क्षेत्र में प्लांट का भूमिपूजन भी कर दिया है।

माना जा रहा है कि कंपनी अप्रैल 2020 से प्लांट में उत्पादन शुरू कर देगी। इस प्लांट के लिए आयशर-वॉल्वो का ज्वाइंट वेंचर 400 करोड़ रुपए का निवेश कर रहा है।

भोपाल में स्थापित हो रहे प्लांट से करीब 10 हजार लोगों को रोजगार मिलने का अनुमान है। दोनों कंपनियों की यह योजना करीब चार साल पुरानी है।

कंपनी को प्लांट लगाने के लिए भोपाल के पास डेढ़ सौ एकड़ जमीन दी गई है। अब तक यह प्रोजेक्ट सिर्फ कागजों में चल रहा था। सरकार द्वारा कंपनी को जमीन भी काफी समय पहले दे दी गई थी।

आचार संहिता के दौरान कंपनी ने प्लांट के लिए भूमिपूजन कर प्लांट स्थापित करने का काम शुरू कर दिया है। प्लांट को स्थापित करने में करीब डेढ़ साल का वक्त लगेगा।

अप्रैल 2020 से इस प्लांट में हैवी ट्रक और बस बनना शुरू हो जाएंगे। इस प्लांट की क्षमता करीब 40 हजार हैवी व्हीकल बनाने की होगी।

आयशर-वॉल्वो के ज्वाइंट वेंचर का एक प्लांट मप्र में ही पहले से चल रहा है। यह प्लांट पीथमपुर में संचालित है और यहां करीब 90 हजार हैवी व्हीकल बनाने की क्षमता है। नए प्लांट के साथ कंपनी की क्षमता करीब एक लाख 30 हजार हैवी व्हीकल बनाने की हो जाएगी।

Back to top button