PAK के खिलाफ पृथ्वी शॉ ने बेईमानी को कहा ‘ना’, ऐसे जीता सबका दिल

कप्तान पृथ्वी शॉ ने इस दौरान शानदार फील्डिंग की और साथ ही खेलभावना का शानदार उदाहरण पेश किया

PAK के खिलाफ पृथ्वी शॉ ने बेईमानी को कहा ‘ना’, ऐसे जीता सबका दिल

अंडर-19 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मैच में भारतीय अंडर-19 टीम के कप्तान पृथ्वी शॉ ने ऐसा कुछ किया, जिसकी तारीफ पूरा क्रिकेट वर्ल्ड कर रहा है। भारत ने सेमीफाइनल मैच में पाकिस्तान को 203 रनों से हराया। कप्तान पृथ्वी शॉ ने इस दौरान शानदार फील्डिंग की और साथ ही खेलभावना का शानदार उदाहरण पेश किया। पाकिस्तानी पारी का 21वां ओवर था और शाहीन शाह अफरीदी स्ट्राइक पर थे, तभी शॉ ने अपने एक्ट से बता दिया कि क्रिकेट को क्यों भद्रजनों का खेल कहा जाता है।

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

21वें ओवर की तीसरी गेंद रियान पराग ने फेंकी। दूसरी गेंद पर वो हसन रजा को आउट कर चुके थे। तीसरी गेंद पर स्लिप में पृथ्वी शॉ ने कैच लपका और आउट की अपील हुई। अंपायर भी शाहीन को आउट देने ही वाले थे कि पृथ्वी ने अंपायर को बताया कि वो इस कैच को लेकर श्योर नहीं हैं और इसको दोबारा चेक करने के लिए कहा।

तीसरे अंपायर ने जब चेक किया तो पता चला कि शॉ के कैच लपकने से पहले गेंद जमीन पर टच हो चुकी थी। इस तरह से शाहीन उस गेंद पर नॉटआउट करार दिए गए। कमेंटेटरों ने भी इस बात के लिए पृथ्वी की खूब तारीफ की।

हालांकि शाहीन इस जीवनदान का फायदा नहीं उठा सके और दो ओवर बाद बिना खाता खोले ही आउट हुए। भारत ने पाकिस्तान के सामने जीत के लिए 273 रनों का लक्ष्य रखा था, जवाब में पाकिस्तान की पूरी टीम 69 रनों पर ही ऑलआउट हो गई।

1
Back to top button