यहां है कलयुग की द्रौपदी, क्या है परंपरा, जाने पूरी खबर..

उत्तर प्रदेश देहरादून के एक छोटे से गांव में रहने वाली 21 साल रजो को अपने पांच पतियों से कोई शिकायत नहीं

उत्तरप्रदेश शादी को सिर्फ एक परंपरा ही नहीं बल्कि हर धर्म और सभ्यता में इसे सबसे पवित्र बंधन माना गया है। इस रिश्ते में जुडकर पति-पत्नी जीवनभर के लिए एक दूसरे के हो जाते हैं और हमेश एक दूसरे का दुख: सुख में साथ देने का वचन लेते है। लेकिन उत्तर प्रदेश देहरादून के एक छोटे से गांव में रहने वाली 21 साल रजो को अपने पांच पतियों से कोई शिकायत नहीं है।

जी हां हम बात कर रहे हैं देहरादून के एक छोटे से गांव की रजो अपने पांच पतियों के साथ खुशहाल जिंदगी गुजार रही है। रजो का पांच भाईयों से एक परंपरा अनुसार हुआ जो सदियों से चली आ रही है। द्वापर युग में द्रौपदी ने 5 भाईयों से शादी की थी जिससे प्रेरित होकर यहां प्रथा कई सालों से चलती आ रही है।

इस परंपरा के अनुसार लड़की को अपने पति के साथ-साथ उनके भाईयों से भी शादी करनी पड़ती है। रजो अपने 5 पतियों के साथ बेहद खुश है और वह उनके साथ बराबर समय बिताती हैं इस बात को लेकर उनके 5 पति हैं और उसे 5 पतियों का प्यार मिल रहा है।

Back to top button