Warning: mysqli_real_connect(): Headers and client library minor version mismatch. Headers:50562 Library:100138 in /home/u485839659/domains/clipper28.com/public_html/wp-includes/wp-db.php on line 1612
यहाँ के बच्चों को मुख्यमंत्री ने बल्ला खरीदने दिया पैसा

यहाँ के बच्चों को मुख्यमंत्री ने बल्ला खरीदने दिया पैसा

मुख्यमंत्री ने नक्सल प्रभावित कोण्डागांव जिले के ग्राम पुसापाल का अचानक दौरा किया।

यहाँ के बच्चों को मुख्यमंत्री ने बल्ला खरीदने दिया पैसा

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेशव्यापी लोक सुराज अभियान के आठवें दिन राज्य के नक्सल प्रभावित कोण्डागांव जिले के ग्राम पुसापाल का अचानक दौरा किया। उन्होंने वहां बरगद की घनी छांव में आयोजित चौपाल में विभिन्न शासकीय योजनाओं के बारे में ग्रामीणों से बातचीत की।

गांव के पैदल भ्रमण के दौरान मुख्यमंत्री एक जगह पेड़ की डाल पर खेल रहे बच्चों को देखकर ठहर गए और हाथ मिलाकर उनका उत्साह बढ़ाया। उन्होंने बच्चों से उनकी पढ़ाई के बारे में पूछा और यह भी पूछा कि वे क्या खेलते हैं ? इस पर बच्चों ने उन्हें बताया कि क्रिकेट खेलते हैं, लेकिन बल्ला टूट गया है।

मुख्यमंत्री ने इन बच्चों को बल्ला खरीदने के लिए तत्काल पांच सौ रूपए दिए। डॉ. सिंह ने कहा-इन बच्चों से मिलकर मुझे भी अपना बचपन याद आ गया। उन्होंने गांव की राशन दुकान का भी निरीक्षण किया और इस दुकान का संचालन कर रहे महिला स्वसहायता समूह की सदस्य महिलाओं के आग्रह पर मिट्टी तेल टैंकर की स्वीकृति तुरंत प्रदान कर दी।

चौपाल में मुख्यमंत्री ने पुसापाल के ग्रामीणों के आग्रह पर महिला मंगल भवन निर्माण के लिए पांच लाख रूपए, ग्राम पंचायत मुख्यालय पुसापाल और आश्रित गांव कोटवेल में सीसी रोड निर्माण के लिए पांच-पांच लाख रूपए तत्काल मंजूर करने की घोषणा की।

उन्होंने भूमि 15 किसानों के खेतों में भूमि समतलीकरण के लिए भी अपनी स्वीकृति तत्काल प्रदान कर दी। इसके साथ ही उन्होंने एक ग्रामीण को मुर्गीपालन के लिए शेड निर्माण की भी मंजूरी दी। डॉ. सिंह पुसापाल में हेलीकॉप्टर से उतरते ही सबसे पहले बिना किसी पूर्व सूचना के वहां के आदिवासी किसान घासीराम नेताम के घर पहुंच गए। नेताम अपने परिवार के साथ उस समय आंगन में तुलसी चौरे में पूजा कर रहे थे।

प्रदेश के मुखिया को अचानक अपने आंगन में देखकर नेताम परिवार आश्चर्य चकित रह गया। मुख्यमंत्री ने भी उनके साथ तुलसी चौरे की पूजा की और नेताम परिवार की सुख-समृद्धि की कामना की। नेताम ने उनके स्वागत में तत्काल मक्का भूनकर उन्हें दिया। डॉ. सिंह ने भी बड़े चाव से मक्के के दानों का स्वाद लिया।

नेताम ने मुख्यमंत्री को बताया कि वे अपने एक एकड़ की बाड़ी में मक्के की खेती कर रहे हैं। डॉ. सिंह उनकी बाड़ी में भी गए। नेताम ने मुख्यमंत्री को बताया कि राज्य सरकार से उन्हें दो साल पहले सिंचाई पम्प मिला है। लगभग 15 से 20 बोरा मक्के की पैदावार मिल जाती है, जिसे बाजार में बेचने पर उन्हें अच्छी अतिरिक्त आमदनी हो जाती है। घासीराम नेताम अपनी बाड़ी में टमाटर, बैंगन और धनिये की खेती कर रहे हैं।

डॉ. सिंह नेताम की बाड़ी देखने के बाद जब उनके घर आए तो उनकी दो बेटियों – मंजू और मनीषा ने मुख्यमंत्री को ग्रीटिंग कार्ड बनाकर भेंट किया। डॉ. सिंह ने दोनों बेटियों के हाथों हुनर की तारीफ करते हुए उनका उत्साह बढ़ाया।

मुख्यमंत्री ने घासीराम नेताम से कहा कि राज्य सरकार ने सहकारी समितियों में धान की तरह मक्के की खरीदी भी समर्थन मूल्य पर करने की व्यवस्था की है। इस वर्ष मक्के का समर्थन मूल्य 1425 रूपए प्रति क्विंटल तय किया गया है। उन्होंने नेताम को इससे कम कीमत में मक्का नहीं बेचने की भी समझाइश दी।

new jindal advt tree advt
Back to top button