सूरत में रेल मंत्री: सामने मारपीट, एस्केलेटर खराब

सूरत: रेलमंत्री और रेल राज्यमंत्री के सामने सूरत स्टेशन पर काफी बवाल हो गया। महामना सुपरफास्ट एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाने पहुंचे रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा के कार्यक्रम के दौरान नवसारी सांसद सी आर पाटिल के समर्थकों ने कथित तौर पर उत्तर भारतीय रेल संघर्ष समिति के सदस्यों को पीट दिया।

वहीं, रेलमंत्री पीयूष गोयल के सामने ही स्टेशन का एस्केलेटर खराब हो गया।

रेल राज्यमंत्री के कार्यक्रम में मारपीट

समिति के सदस्य अपने गृह क्षेत्रों में ट्रेन सेवा पहुंचाने की मांग लेकर सिन्हा से मिलना चाहते थे।

समिति के नेता अनूप राजपूत, यजुवेंद्र दुबे, शान खान, अजय बाबा को कार्यक्रम में शामिल नहीं होने दिया गया। बहस से शुरू हुआ विवाद मारपीट तक पहुंच गया। सूत्रों के मुताबिक कुछ पत्रकारों को भी पीट दिया गया।

समिति के संयोजक अजीत तिवारी ने बताया, ‘हम मनोज सिन्हा के सामने अपनी मांगें रखने गए थे। एक नागरिक के तौर पर यह हमारा अधिकार है कि हम अपने मंत्री से मिलें और अपने समुदाय के बारे में उनसे बात करें।

लेकिन नवसारी सांसद के गुंडों ने हमें सिन्हा से मिलने नहीं दिया और हम पर हमला कर दिया। हमारे संगठन के सदस्य अनूप राजपूत को गंभीर चोटें आई हैं।’

बाद में लगभग 4 घंटों तक समिति के नेताओं ने जीआरपी पुलिस स्टेशन का घेराव किया और उनपर हमला करने वालों पर एफआईआर दर्ज करने की मांग की।

रेलमंत्री के कदम रखते ही एस्केलेटर हुआ बंद

सूरत रेलवे स्टेशन को विश्व-स्तर की सुविधाएं देने के लिए योजनाओं पर चर्चा करने सूरत पहुंचे नए रेलमंत्री पीयूष गोयल के सामने ही स्टेशन का एक एस्केलेटर बंद हो गया।

रेलमंत्री को सीढ़ियों से ऊपर जाना पड़ा और इससे पश्चिम रेलवे अधिकारियों की काफी किरकिरी हो गई।

प्लैटफॉर्म 4 के एस्केलेटर पर जब रेलमंत्री ने कदम रखा तो कुछ ही सेकंड्स में वह बंद हो गया। एक अधिकारी ने कहा कि ओवरलोडिंग की वजह से ऐसा हुआ होगा।

इस पर गोयल ने कहा कि स्टेशन पर लगे एस्केलेटर को तो बहुत से यात्रियों का वजन उठाना है।

बाद में पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि किसी सुरक्षाकर्मी ने गलती से एस्केलेटर बंद कर दिया था।

Back to top button