हिमाचल प्रदेश में सस्ता होगा पेट्रोल-डीजल, सरकार ने की 1 फीसद वैट कटौती

शिमला: हिमाचल प्रदेश सरकार ने मंगलवार (10 अक्टूबर) को लोगों को राहत देने के लिए पेट्रोल और डीजल पर मूल्यवर्धित कर (वैट) एक प्रतिशत घटा दिया है. मंत्रिमंडल की बैठक के बाद हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि लोगों को राहत देने के लिए पेट्रोल और डीजल पर वैट एक प्रतिशत घटाया गया है. राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में एचपी भूमि हदबंदी कानून में भी उचित संशोधन का फैसला किया गया है. इसके अलावा दूरदराज और वंचित क्षेत्रों या कम सुविधा वाले इलाकों को स्वास्थ्य सुरक्षा सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए मंत्रिमंडल ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत किन्नौर और लाहोल तथा स्पीति को छोड़कर 10 गैर आदिवासी जिलों में मोबाइल चिकित्सा इकाइयों के परिचालन का फैसला किया है.

इससे पहले गुजरात के लोगों को दिवाली की सौगात देते हुए मंगलवार (10 अक्टूबर) को राज्य सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर मूल्य वर्द्धित कर (वैट) को चार प्रतिशत कम करने का निर्णय किया है. राज्य में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं. विपक्षी दल कांग्रेस ने कहा है कि यह कदम आने वाले राज्य विधानसभा चुनावों को देखते हुए उठाया गया है. पार्टी का कहना है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के राज्य दौरे को मिली जबर्दस्त प्रतिक्रिया से बने दबाव को देखते हुये यह कदम उठाया गया है.

यहां एक प्रेस वार्ता में राज्य के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने कहा, ‘‘केंद्र सरकार के निर्देशों के बाद गुजरात सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर 4% वैट कम करने का निर्णय किया है. नयी कीमत आज रात मध्यरात्रि से प्रभावी होंगी.’’ उन्होंने कहा कि इसके बाद राज्य में पेट्रोल की कीमत 2.93 रुपये घटकर 66.53 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 2.72 रुपये कम होकर 60.77 रुपये प्रति लीटर रह जाएगी. हालांकि, इससे राज्य के खजाने को 2,316 करोड़ रुपये वार्षिक नुकसान होगा. वैट से राज्य की सालाना आय 12,000 करोड़ रुपये है.

Back to top button