छत्तीसगढ़

त्रिपुरा से हिमालयन भालू, पुणे से चिंकारा, रांची से शुतुरमुर्ग बढ़ाएंगे कानन की शोभा

भरत ठाकुर

बिलासपुर: छत्तीसगढ़ के कानन पेंडारी जू में जल्द गैर प्रांतों से वन्यजीव लाए जाएंगे, केंद्रीय चिडियाघर प्राधिकरण ने इसकी स्वीकृति दे दी है। बता दें कि वातावरण बदलाव की योजना के तहत चिड़ियाघरों के वन्यजीवों की अदला-बदली की योजना है। कानन पेंडारी जू में शीघ्र ही पूणे से चिकांरा का एक जोड़ा ,रांची से तीन शुतुरमुर्ग व त्रिपुरा से हिमालयन ब्लैक बीयर व कैट लेपर्ड लाए जाएंगे।

कानन जू में प्रजातियां बढ़ाने और नस्ल सुधार पर जोर दिया जा रहा है। इसे ध्यान में रखते हुए रांची जू से शुतुरमुर्ग की मांग की गई, जिस पर वे राजी हो गए। उन्होंने बदले में दो बंगाल टाइगर मांगे । बता दें कि अभी कानन में टाइगर की अच्छीं ब्रीडिंग हो रही है, इसलिए प्रबंधन ने तत्काल हामी भर दी।

केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण से अदला-बदली को लेकर अनुमति भी मिल गई है, इसके साथ ही त्रिपुरा के जू को बदले में एक लेपर्ड और तीन लंगूर दिए जाएंगे। पहले वे टाइगर मांग रहे थे, लेकिन कानन प्रबंधन ने इससे इंकार कर दिया। इसके अलावा पुणे व कानन प्रबंधन के बीच भी वन्यप्राणियों को अदला-बदली को लेकर समझौता हुआ था। उन्हें बदले में भालू का जोड़ा चाहिए, वह चिंकारा का जोड़ा कानन को देंगे। इसके बाद जू में प्रजातियों की संख्या बढ़कर 67 हो जाएगी। हिमालयन भालू और कैट लेपर्ड दोनों ही कानन पेंडारी जू के लिए नई प्रजाति हैं।

Tags

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
%d bloggers like this: