हिमालय में सेना को मिले हिममानव ‘येति’ के पैरों के निशान, ट्विटर पर किए शेयर

यह मायावी स्नोमैन इससे पहले केवल मकालू-बरुन नेशनल पार्क में देखा गया

नई दिल्ली: दुनियाभर में कई बार हिममानव ‘येती’ को देखे जाने की घटनाएं सामने आती रही हैं. लेकिन अब इस पर यकीन करने के लिए भारतीय सेना ने भी इसकी मौजूदगी के संकेत दिए हैं. सेना को हिमालय में हिममानव ‘येति’ के पैरों के निशान मिले हैं, जिसे उन्होंने ट्विटर पर शेयर किए हैं.

सेना ने जारी की तस्वीर

ट्विटर पर सेना के जन सूचना विभाग की तरफ से किए गए ट्वीट में कहा गया है कि पहली बार भारतीय सेना की एक पर्वतारोही टीम ने मकालू बेस कैंप के करीब 32×15 इंच वाले रहस्यमयी हिममानव ‘येती’ के पैरों के निशान देखे हैं. यह मायावी स्नोमैन इससे पहले केवल मकालू-बरुन नेशनल पार्क में देखा गया है.

‘येती’ सबसे रहस्यमयी प्राणी

माना जा रहा है कि ये निशान हिममानव ‘येती’ के पैरों के ही हैं. भारतीय सेना ने अपने ट्वीट में चार तस्वीरें शेयर की हैं. हिममानव ‘येती’ हिमालय में रहने वाला सबसे रहस्यमयी प्राणी है. ‘येती’ को ज्यादतार नेपाल और तिब्बत के हिमालय क्षेत्र में देखे जाने की घटना सामने आती रही है.

क्या है ‘येती’

येती दुनिया के सबसे रहस्यमयी प्राणियों में से एक है, जिसकी कहानियां करीब 100 साल पुरानी है. लद्दाख के कुछ बौद्ध मठों ने दावा किया था कि हिममानव ‘येती’ उन्होंने देखे हैं. इन दावों को लेकर वैज्ञानिक एकमत नहीं हैं.

शोधकर्ताओं ने येती को मनुष्य नहीं बल्कि ध्रुवीय और भूरे भालू की क्रॉस ब्रीड यानी संकर नस्ल बताया है. कुछ वैज्ञानिकों का कहना है कि येती एक विशालकाय जीव हैं, जिसकी शक्लोसूरत तो बंदरों जैसी होती है, लेकिन वह इंसानों की तरह दो पैरों पर चलता है.

advt
Back to top button