हिमांगी सखी का किन्नर से संघर्षपूर्ण यात्रा शुरू करके महामंडलेश्वर तक की ऊंचाई तक का सफर

वृंदावन कुंभ मेला में मुंबई में रहनेवाली किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी आकर्षक का केंद्र बनी हुई है

मुंबई / वृंदावन : वृंदावन में चल रहे कुंभ मेला में पहली बार मुंबई में रहनेवाली किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी ने हिस्सा लिया तथा शाही स्नान किया और वे सभी लोगो के लिए आकर्षक का केंद्र बनी हुई है। वृंदावन कुंभ पूर्व वैष्णव बैठक में किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी भजन-कीर्तन व प्रवचन के साथ- साथ श्रद्धालुओं को दर्शन दे रही है। कुंभ मेला में हजारों साधु-संतों और महामंडलेश्वर ने अपने अपने डेरा लगाया हुआ है। देश विदेश आये श्रद्धालु महामंडलेश्वर का आशीर्वाद लेने पहुंच रहे है। यह कुंभ मेला २५ मार्च २०२१ तक चलेगा।

मुंबई की सुप्रसिद्ध प्रवचन कर्ता व भागवत कथा वाचक किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी वृंदावन में चल रहे कुंभ के बारे कहती हैं,” मेरी शिक्षा दीक्षा सब वृंदावन में हुआ है। यही पर शास्त्रों का अध्यन किया है। बृजवाशियों के साथ यहाँ बहुत अच्छा अनुभूति होती है। मैंने अपना तन मन धन सब कृष्ण के चरणों में समर्पित कर दिया दिया है। उन्ही की कृपा और आशीर्वाद के कारण मैं आज यहाँ तक पहुंची हूँ। मेरे जीवन को उन्होंने धन्य कर दिया।”

वैसे हिमांगी सखी का जन्म गुजरात के बड़ौदा में हुआ था, उसके बाद वे मुंबई आकर बस गयी क्योकि उसके पिताजी फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर थे जोकि राजकपूर के साथ काफी काम किया था। थोड़ी बहुत पढाई कान्वेंट स्कूल में किया लेकिन पिताजी और माताजी के गुजर जाने के बाद वह छूट गयी, उसके बाद उन्होंने बहन की शादी कराई और जीविका चलाने के लिए उन्होंने फिल्म ‘शबनम मौसी,’ ‘डाउन टाउन’ और ‘थर्ड मैन’ जैसी फिल्मों में काम किया और वी चैनल के शो ” एक्स योर एक्स’ और आई बी इन ७ चैनल के “जिंदगी लाइफ” शो में भी आ चुकी है। उसके बाद कृष्ण भगवन की ओर झुकाव बढ़ता गया और सब छोड़कर वृंदावन चली गयी और वही पर गुरु से शिक्षा लेकर सभी शास्त्रों का ज्ञान लिया और अब यहाँ तक पहुंची।वैसे पौराणिक ग्रन्थों, वेदों-पुराणों और साहित्य तक में किन्नर कोअति प्रतिष्ठित व महत्वपूर्ण बताया गया है।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button