‘आधार’ साल का हिंदी शब्द घोषित हुआ

नयी दिल्ली. ऑक्सफोर्ड डिक्शनरीज ने अंग्रेजी शब्द की तरह पहली बार वर्ष के हिंदी शब्द की घोषणा की है और जयपुर साहित्योत्सव (जेएलएफ) में ‘आधार’ को वर्ष 2017 का हिंदी शब्द घोषित किया गया. जयपुर में आयोजित किए जा रहे जेएलएफ में आज एक संगोष्ठी में इसकी घोषणा की, जिसमें कवि अशोक वाजपेयी, वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ और वरिष्ठ साहित्यकार चित्रा मुदगल आदि ने भाग लिया.

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरीज ने एक विज्ञप्ति में बताया कि चयन समिति के सामने कई हिंदी शब्दों में से एक को चुनने की चुनौती थी और अंतिम चयनित शब्दों में आधार के साथ नोटबंदी, स्वच्छ, योग, विकास तथा बाहुबली जैसे शब्द थे और इनमें से ‘आधार’ को चुना गया. उन्होंने कहा कि ‘वर्ष का हिन्दी शब्द, एक ऐसी अभिव्यक्ति है जिसने सबसे ज्यादा ध्यान आकृष्ट किया हो तथा जो पिछले साल की प्रकृति, भाव तथा मनोदशा का समग्र रूप से चित्रण करता हो.

हिन्दी भाषा में ‘आधार’ मौलिक रूप से स्थापित शब्द है. हालांकि आधार कार्ड या विशिष्ट पहचान संख्या के रूप में इसने एक नया सन्दर्भ ग्रहण किया. इस नये सन्दर्भ में यह शब्द पिछले साल राष्ट्रीय परिचर्चा के केंद्र में आ गया जब आधार योजना के विस्तार के परिणामस्वरूप बैंक खातों तथा फोन नंबरों को इससे जोड़ा जाने लगा.

कई हिंदी शब्दों में से एक का चुनाव करने वाली समिति में शामिल लेखिका नमिता गोखले ने कहा, ”उन शब्दों को ढूंढना जो 2017 को पारिभाषित करते हों, बेहद मज़ेदार और प्रेरक अनुभव रहा.

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस इंडिया के प्रबंध निदेशक शिवरामाकृष्णन वी के मुताबिक, ”हम अत्यंत उल्लास के साथ पहले ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी ‘वर्ष का हिन्दी शब्द’ की घोषणा कर रहे हैं.”

1
Back to top button